आज की दुनिया को भगवान बुद्ध के बताए रास्ते पर चलने की जरूरत, जापान में भारतीय समुदाय से बोले पीएम मोदी


नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को भारत और जापान को स्वाभाविक साझेदार बताते हुए कहा कि भारत की विकास यात्रा में जापान की महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है. टोकियों में आयोजित एक कार्यक्रम में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जापान से हमारा रिश्ता आत्मीयता का है, आध्यात्म का है, सहयोग का है, अपनेपन का है.

पीएम मोदी ने कहा कि आज की दुनिया को भगवान बुद्ध के विचारों पर, उनके बताए रास्ते पर चलने की बहुत जरूरत है. उन्होंने कहा, “यही रास्ता है जो आज दुनिया की हर चुनौती, चाहे वो हिंसा हो, अराजकता हो, आतंकवाद हो, क्लाइमेट चेंज हो, इन सबसे मानवता को बचाने का यही मार्ग है.”

भाषण की शुरुआत में पीएम मोदी ने भारतीय समुदाय से कहा, “जब भी मैं जापान आता हूं, तो  मैं देखता हूं कि आपकी स्नेह वर्षा हर बार बढ़ती ही जाती है. आप में से कईं साथी अनेक वर्षों से यहां बसे हुए हैं. जापान की भाषा, वेशभूषा, संस्कृति और खानपान एक प्रकार से आपके जीवन का भी हिस्सा बन गया है.”

उन्होंने आगे कहा, “ये हम लोगों की विशेषता है कि हम कर्मभूमि से तन मन से जुड़ जाते हैं, खप जाते हैं. लेकिन मातृभूमि की जड़ों से जो जुड़ाव है, उससे कभी दूरी नहीं बनने देते हैं. यही हमारा सबसे बड़ा सामर्थ्य है.”

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामी विवेकानंद का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, “विवेकानंद जी जब अपने ऐतिहासिक संबोधन के लिए शिकागो जा रहे थे उससे पहले वो जापान आए थे. जापान में उनके मन मस्तिष्क पर गहरा प्रभाव छोड़ा हुआ था. जापान के लोगों की देशभक्ति, जापान के लोगों का आत्मविश्वास, स्वच्छता के लिए जापान के लोगों की जागरूकता की उन्होंने खुलकर प्रशंसा की थी.”

Tags: Japan, Narendra modi



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here