आतंकवादियों द्वारा की जा रही नई तकनीकि के दुरुपयोग को रोकना वैश्विक चुनौती, दिल्ली में बोले एंटोनियो गुटरेस


एंटोनियो गुटरेस (फाइल फोटो)- India TV Hindi News

Image Source : AP
एंटोनियो गुटरेस (फाइल फोटो)

UNSC meeting in Delhi on Terrorism:संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटरेस ने आतंकवादी समूहों द्वारा दुष्प्रचार के लिए नयी तकनीकियों का इस्तेमाल करने की चुनौती से निपटने के लिए ठोस वैश्विक प्रयासों का शनिवार को आह्वान किया। दिल्ली में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की आतंकवाद रोधी समिति की बैठक को दिए एक संदेश में गुटरेस ने विभिन्न आतंकवादी समूहों द्वारा दुष्प्रचार करने, संघर्ष भड़काने और युवाओं को कट्टर बनाने के लिए नयी तकनीकों के दुरुपयोग पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि इससे निपटना वैश्विक चुनौती है।

दिल्ली में आतंकवाद रोधी बैठक में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सभी 15 सदस्य देशों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। गुटरेस के संदेश को वैश्विक निकाय के एक अधिकारी ने पढ़ा। संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कहा, ‘‘नयी और उभरती प्रौद्योगिकियों में हर जगह मानवीय स्थितियों में सुधार करने की बेजोड़ क्षमता है, लेकिन अफसोस की बात यह है कि विद्वेषपूर्ण उद्देश्य रखने वाले व्यक्तियों सहित कई लोगों द्वारा इनका दुरुपयोग भी किया गया है।

युवाओं की भर्ती कर संसाधन जुटा रहे आतंकी


घृणास्पद विचारधारा वाले आतंकवादी और अन्य लोग नयी और उभरती प्रौद्योगिकियों का दुरुपयोग करके दुष्प्रचार कर रहे हैं, संघर्ष भड़का रहे हैं, युवाओं को भर्ती कर रहे हैं और कट्टरपंथी बना रहे हैं, संसाधन जुटा रहे हैं और हमले कर रहे हैं।’’ गुटरेस ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने इस तरह के दुरुपयोग के कई जोखिमों को उजागर किया है। उन्होंने कहा, ‘‘डिजिटल क्षेत्र में सभी मानवाधिकारों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध रहते हुए हमें इन जोखिमों को कम करने के लिए ठोस उपाय करने चाहिए।’’ संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कहा, ‘‘यह केवल प्रभावी बहुपक्षवाद और अंतरराष्ट्रीय सहयोग के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है, जो संयुक्त राष्ट्र चार्टर के मूल्यों और दायित्वों और मानवाधिकारों संबंधी सार्वभौमिक घोषणा के अनुरूप है।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here