इमरान खान ने अस्पताल में बुलाई पार्टी की इमरजेंसी मीटिंग, जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन तेज


Imran Khan- India TV Hindi News

Image Source : PTI (FILE PHOTO)
Imran Khan

इस्लामाबाद: गोलीबारी में घायल हुए पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने अस्पताल में आज पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (PTI) की इमरजेंसी बैठक बुलाई है। थोड़ी देर में वह कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। बता दें कि अस्पताल में एडमिट इमरान अब खतरे से बाहर हैं। वहीं, इमरान की पार्टी ने घोषणा की है कि पूर्व प्रधानमंत्री अपने ऊपर हुए जानलेवा हमले के बावजूद मध्यावधि चुनाव करवाने की मांग को लेकर सरकार पर दबाव डालने के मकसद से जुमे की नमाज़ के बाद देशव्यापी विरोध प्रदर्शन करेगी।

हमले के बाद भी झुकने को तैयार नहीं इमरान


इमरान खान पर जानलेवा हमले के बाद पाकिस्तान में हालात बेहद तनावपूर्ण हैं। ऐसे में यहां कुछ भी हो सकता है। इस जानलेवा हमले के बाद भी वह झुकने के लिए तैयार नहीं हैं। यही वजह है कि वह खुद हॉस्पिटल में हैं, लेकिन उनकी पार्टी ने अपना लॉन्ग मार्च जारी रखने का फैसला किया है। उधर इमरान की पार्टी के नेता फवाद चौधरी ने बड़ा दावा करते कहा है कि कल इमरान की हत्या की सोची समझी साजिश के तहत फायरिंग की  गई थी….फवाद चौधरी ने दावा किया है कि इमरान पर 9MM की गोली नहीं चली..उनपर ऑटोमैटिक हथियार से  फायरिंग की गई थी। इमरान के समर्थक अब पाकिस्तान में जगह-जगह प्रदर्शन कर रहे हैं..लंदन में  पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के घर के सामने भी प्रदर्शन किया और नारेबाजी की.. पाकिस्तानी सेना के खिलाफ भी लोगों में गुस्सा है।  

जुम्मे की नमाज़ के बाद देश भर में विरोध प्रदर्शन

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के वज़ीराबाद इलाके में विरोध मार्च के दौरान एक बंदूकधारी ने 70 वर्षीय खान को ले जा रहे ट्रक पर गोली चला दी, जिससे खान के पैर में गोली लग गई थी। इस हमले में एक व्यक्ति की मौत हुई है। खान की पार्टी का दावा है कि यह इमरान खान की ‘‘हत्या का प्रयास’’ था। पीटीआई पार्टी के महासचिव असद उमर ने ट्वीट कर कहा कि जब तक उनकी मांगें नहीं मान ली जाएंगी तब तक विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। उमर ने कहा, ‘‘जुम्मे की नमाज़ के बाद देश भर में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। जब तक इमरान खान की मांगें नहीं मानी जातीं, तब तक यह विरोध लगातार जारी रहेगा।’’ हालांकि, उन्होंने खान द्वारा की जा रही मांगों के बारे में स्पष्ट तौर पर कुछ नहीं कहा, लेकिन खान वर्तमान सरकार पर मध्यावधि चुनावों करवाए जाने की मांग कर रहे हैं। इमरान खान ने शहबाज़ शरीफ नीत सरकार पर दबाव डालने के लिए 28 अक्टूबर को ‘हकीकी आज़ादी’ मार्च शुरू किया था।

मैं नहीं झुकूंगा- इमरान खान

पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर खान के हवाले से कहा गया, ‘‘मैं नहीं झुकूंगा, अपने साथी पाकिस्तानियों के लिए ‘हकीकी आज़ादी’ हासिल करने के वास्ते दृढ़ रहूंगा।’’ खान ने 28 अक्टूबर को लाहौर से चल कर चार नवंबर तक इस्लामाबाद पहुंचने के लक्ष्य से ‘हकीकी आज़ादी’ मार्च शुरू किया था, लेकिन प्रदर्शन के कार्यक्रम में बदलाव के कारण मार्च के अब 11 नवंबर तक इस्लामाबाद पहुंचने की संभावना है। बता दें कि अभी तक शहबाज़ शरीफ नीत सरकार ने खान के नेतृत्व में पीटीआई कार्यकर्ताओं को राजधानी में रैली करने की अनुमति नहीं दी है। इस बीच,इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने राजधानी में विरोध रैली की अनुमति देने वाली याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। खान पर हमला करने वाले हमलावर को गिरफ्तार कर लिया गया और एक इकबालिया बयान का वीडियो भी जारी हुआ है।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here