ऋषि सुनक ब्रिटिश पीएम पद की रेस में पिछड़े? लिज ट्रस को मिला इस शख्सियत का समर्थन


Rishi Sunak News, Rishi Sunak, Rishi Sunak vs Liz Truss, Rishi Sunak Wins, Rishi Sunak Britain- India TV Hindi News
Image Source : AP FILE
Liz Truss and Rishi Sunak.

Highlights

  • ऋषि सुनक के प्रचार अभियान को शनिवार को बड़ा झटका लगा है।
  • कंजर्वेटिव पार्टी के नेता टॉम टुगेंडहट ने लिज ट्रस का समर्थन कर दिया है।
  • सुनक पर टोरी के कुछ सदस्यों ने जॉनसन को धोखा देने का आरोप लगाया है।

Rishi Sunak News: ब्रिटेन का अगला प्रधानमंत्री चुने जाने के लिए जी तोड़ कोशिश कर रहे ऋषि सुनक के प्रचार अभियान को शनिवार को बड़ा झटका लगा है। पूर्व उम्मीदवार एवं कंजर्वेटिव पार्टी के कद्दावर नेता टॉम टुगेंडहट Tom Tugendhat) ने उनकी प्रतिद्वंद्वी एवं विदेश मंत्री लिज ट्रस का अनुमोदन कर दिया है। टोरी सांसद एवं हाउस ऑफ कॉमंस की विदेश मामलों की समिति के अध्यक्ष टॉम टुगेंडहट ने कहा कि उन्होंने करों में तत्काल कटौती किए जाने के वादे को लेकर ट्रस को प्राथमिकता दी है। टुगेंडहट, इस महीने की शुरुआत में पार्टी के नेता पद की दौड़ से बाहर होने से पहले उम्मीदवारों की लिस्ट में शामिल थे।

‘लिज हमेशा ब्रिटिश मूल्यों के साथ खड़ी रही हैं’

टुगेंडहट ब्रिटिश सेना में सैनिक भी रह चुके हैं और पार्टी के साथ-साथ देश के कद्दावर नेताओं में गिने जाते हैं, ऐसे में उनकी राय बहुत मायने रखती है। उन्हेंने कहा कि टेलीविजन पर सीधे प्रसारण वाली बहस में उम्मीदवारों को देखने के बाद वह इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि ट्रस का समर्थन किया जाना चाहिए। ‘द टाइम्स’ नाम के अखबार में उन्होंने लिखा, ‘लिज देश में और विदेश में सदा ही ब्रिटिश मूल्यों के लिए खड़ी रही हैं। उनके हाथों में नेतृत्व रहने पर वह बेशक देश को कहीं अधिक सुरक्षित बनाने की प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ेंगी।’

‘दोनों ही उम्मीदवारों में कई खूबियां हैं लेकिन’
टुगेंडहट ने हालांकि यह भी कहा कि दोनों ही उम्मीदवार बेहद खास हैं और दोनों में जबरदस्त प्रतिभा है लेकिन ट्रस कुछ मामलों में सुनक से आगे हैं। उन्होंने कहा, ‘दोनों प्रतिद्वंद्वियों में काफी खूबियां हैं और वे प्रतिभा संपन्न हैं लेकिन ट्रस के कैबिनेट मंत्री रहने के चलते उन्हें विश्व मंच पर बढ़त हासिल है। विदेश मंत्री के तौर पर ट्रस को काफी बढ़त प्राप्त है। वह हमारी आवाज को सुना जाना सुनिश्चित करेंगी।’ बता दें कि इससे पहले, एक अन्य टोरी सांसद एवं रक्षा मंत्री बेन वालेस ने भी ट्रस का समर्थन करते हुए उन्हें वास्तविक, ईमानदार और अनुभवी नेता बताया था।

सुनक पर लगा जॉनसन को धोखा देने का आरोप
बता दें कि सुनक ने पहले कुछ चरणों में अपनी पार्टी के सहकर्मियों द्वारा किए गए मतदान में अधिकतर सांसदों का समर्थन हासिल किया था, लेकिन उसके बाद से टोरी सदस्यों के बीच मतदान में ट्रस ज्यादा लोकप्रिय नजर आई हैं। वहीं, पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के एक समर्थक ने आरोप लगाया था कि टोरी के कई सदस्य मानते हैं कि ऋषि सुनक ने जॉनसन की पीठ में छुरा घोंपा था। हालांकि इन आरोपों का जवाब देते हुए सुनक ने कहा था कि आर्थिक नीतियों पर मतभेद के चलते इस्तीफा देने के अलावा उनके पास कोई और चारा नहीं था।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here