एंटनी ब्लिंकन ने चीनी विदेश मंत्री से बाली में की मुलाकात, जानिए पूरा मामला


U.S. Secretary of State Antony Blinken Shakes hand with Chinese Foreign Minister Wang Yi- India TV Hindi
Image Source : AP

U.S. Secretary of State Antony Blinken Shakes hand with Chinese Foreign Minister Wang Yi

Highlights

  • दोनों देश के विदेश मंत्रियों ने बाली में पांच घंटे तक की बातचीत
  • वांग ने कहा कि दोनों देशों के लिए सामान्य संवाद बनाए रखना आवश्यक है
  • ठीक दो दिन पहले दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों ने डिजिटल माध्यम से की थी बैठक

America-China Meet: अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने वाशिंगटन और बीजिंग के बीच हाल में बढ़ी कड़वाहट को खत्म करने को एक कदम उठाया। ब्लिंकन ने इस कड़वाहट को कम करने की कवायद के तौर पर शनिवार को चीन के विदेश मंत्री वांग यी से मुलाकात की। ब्लिंकन और वांग ने इंडोनेशिया के बाली में पांच घंटे तक वार्ता की। इससे एक दिन पहले वे 20 अमीर और बड़े विकासशील देशों के समूह G-20 के विदेश मंत्रियों की बैठक में शामिल हुए। इसमें यूक्रेन में रूस के युद्ध और इसके असर से निपटने पर आम सहमति नहीं बन पाई। ब्लिंकन ने कहा कि रूस G-20 की बैठक से अलग-थलग और अकेले पड़ जाएगा क्योंकि इसमें शामिल हुए अधिकतर देशों ने यूक्रेन युद्ध का विरोध किया है। हालांकि, जी-20 देशों के विदेश मंत्री संघर्ष को समाप्त करने के लिए एक स्वर में आह्वान करने के वास्ते सहमत नहीं हो पाए। 

दोनों देशों के लिए सामान्य संवाद बनाए रखना आवश्यक है: वांग

चीन के मुद्दे पर ब्लिंकन ने कहा कि उन्होंने और वांग ने शुल्क, व्यापार और मानवाधिकार से लेकर ताइवान तथा दक्षिण चीन सागर संबंधी विवाद जैसे मुद्दों पर चर्चा की। ठीक दो दिन पहले दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों ने डिजिटल माध्यम से बैठक में ताइवान पर बातचीत की थी। वार्ता से पहले वांग ने कहा कि “दोनों देशों के लिए सामान्य संवाद बनाए रखना आवश्यक है” और “यह सुनिश्चित करने के लिए एक साथ काम करना होगा कि यह संबंध सही रास्ते पर आगे बढ़ता रहे।” उन्होंने “पारस्परिक सम्मान”, “शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व” और दोनों पक्षों की जीत के सिद्धांतों के प्रति चीन की प्रतिबद्धता का जिक्र किया। बैठक से पहले अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि उन्हें ब्लिंकन और वांग के बीच बातचीत से कोई बड़ी कामयाबी मिलने की उम्मीद नहीं है। हालांकि उन्होंने आशा जताई कि बातचीत से संवाद का रास्ता खुला रह सकता है और जटिल मुद्दों पर दोनों देश आगे बातचीत कर सकते हैं। 

ब्लिंकन ने कहा कि रूस के साथ चीन के जुड़ाव को लेकर हम चिंतित हैं

ब्लिंकन ने कहा, “हम इस रिश्ते को, स्पर्धा को जिम्मेदारी से संभालने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जैसा कि दुनिया हमसे अपेक्षा करती है।” अमेरिका और चीन के बीच यूक्रेन के मुद्दे पर भी तनाव बढ़ा है। चीन ने रूस के हमले की निंदा नहीं की है, जिससे अमेरिका ने लगातार उसके रुख की आलोचना की है। वहीं चीन ने भी रूस के खिलाफ पश्चिमी देशों के प्रतिबंधों की निंदा की और अमेरिका तथा NATO पर युद्ध को भड़काने का आरोप लगाया। ब्लिंकन ने कहा, “रूस के साथ चीन के जुड़ाव को लेकर हम चिंतित हैं।” साथ ही उन्होंने कहा कि यूक्रेन में युद्ध को लेकर चीन का रुख स्वाभाविक नहीं है। G20 की बैठक में वांग ने वैश्विक स्थिरता पर चीन की नीति का हवाला देते हुए कहा कि “अपनी सुरक्षा को दूसरों की सुरक्षा से ऊपर रखना और सैन्य गुटों को बढ़ावा देना अंतरराष्ट्रीय समुदाय को विभाजित करेगा।”





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here