कौन थे मिखाइल गोर्बाचेव; क्या अपना ही देश USSR को तोड़ने के लिए मिला था नोबेल पुरस्कार?


हाइलाइट्स

1990 में अमेरिकी नेता रोनाल्ड रीगन के साथ एक ऐतिहासिक परमाणु हथियार समझौते के लिए मिला था नोबेल शांति पुरस्कार
बर्लिन की दीवार गिरने पर भी सोवियत सेना को वापस लेने के फैसले की होती है तारीफ
गोर्बाचेव और पुतिन के रिश्ते कभी सही नहीं रहें हैं

मास्को.  सोवियत संघ के अंतिम नेता मिखाइल गोर्बाचेव का 91 वर्ष की आयु में मास्को में निधन हो गया है. AFP की एक रिपोर्ट के मुताबिक मॉस्को के सेंट्रल क्लिनिकल अस्पताल ने कहा कि मिखाइल सर्गेयेविच गोर्बाचेव का एक गंभीर और लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. गोर्बाचेव 1985 से लेकर 1991 के बीच सोवियत यूनियन के राष्ट्रपति थे जिन्होने अमेरिका-सोवियत संबंधों को कोल्ड वॉर के दौर से बाहर लाने में मदद की थी. वह कोल्ड वॉर के अंतिम जीवित नेता थे.

गोर्बाचेव पिछले दो दशकों से राजनीतिक रूप से काफी सक्रिय थे. वह क्रेमलिन और व्हाइट हाउस को बीच-बीच में संबंधों को सुधारने का आह्वान भी करते रहते थे. 2014 में रूस द्वारा क्रीमिया पर कब्जा करने और इस साल की शुरुआत में यूक्रेन में एक आक्रामक अभियान शुरू करने के बाद से कोल्ड वॉर के स्तर तक तनाव बढ़ गया था. अपने जीवन के अंतिम कुछ वर्ष अस्पताल में खराब स्वास्थ्य के साथ बिताने के बावजूद गोर्बाचेव रूस के साथ दूसरे देशों के बिगड़ते हालातों को लेकर चिंतित रहते थे.

मिल चुका है नोबेल प्राइज
1990 में अमेरिकी नेता रोनाल्ड रीगन के साथ एक ऐतिहासिक परमाणु हथियार समझौते पर बातचीत के लिए उन्हें नोबेल शांति पुरस्कार भी दिया जा चुका है. बर्लिन की दीवार गिरने पर भी सोवियत सेना को वापस लेने के उनके फैसले को कोल्ड वॉर की शांति बनाए रखने की एक कड़ी के रूप में देखा गया था, जिसकी सराहना दुनियाभर के नेता करते हैं. उन्हें अपने कार्यकाल के दौरान कई रिफॉर्म्स करने के लिए भी जाना जाता है जिसके कारण कई देश सोवियत संघ से टूट कर अलग हो गए थे.

पुतिन से ठीक नहीं थे रिश्ते
पुतिन सहित कई रूसियों के लिए सोवियत यूनियन का टूटना किसी बुरे सपने जैसा था. गोर्बाचेव से रूसियों की नाराजगी इस बात से लगाई जा सकती है कि जब वह 1996 में राष्ट्रपति पद के खड़े हुए थे तो  उन्हें महज 0.5 प्रतिशत वोट प्राप्त हुए थे. हालांकि गोर्बाचेव पश्चिम नेताओं के बीच बेहद लोकप्रिय थे जहां उन्हें प्यार से गोरबी कहा जाता है.

Tags: Russia



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here