कौन हैं नैंसी पेलोसी जिनकी ताइवान यात्रा को लेकर मचा हुआ है हंगामा? चीन ने एक्शन की धमकी दी, US सरकार ने तेज की तैयारियां


Nancy Pelosi Taiwan Visit- India TV Hindi News
Image Source : PTI
Nancy Pelosi Taiwan Visit

Highlights

  • ताइवान यात्रा पर जाएंगी नैंसी पेलोसी
  • चीन ने पेलोसी की यात्रा पर दी धमकी
  • पेलोसी के हेलिकॉप्टर की आशंका

Nancy Pelosi Taiwan Visit: अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि उन्हें इस बात की बहुत कम आशंका है कि अगर संसद अध्यक्ष नैंसी पेलोसी आगामी दिनों में ताइवान की यात्रा पर जाती हैं, तो चीन उनके विमान पर हमला कर सकता है। उन्होंने कहा कि हालांकि पेंटागन किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए योजनाएं बना रहा है। उन्होंने कहा कि पेलोसी की ताइवान यात्रा के दौरान किसी भी हादसे, गलत कदम या गलतफहमी से उनकी सुरक्षा को खतरा पैदा हो सकता है, इसलिए पेंटागन संभावित आकस्मिक स्थिति के लिए योजनाएं बना रहा है। अधिकारियों ने बताया कि अगर पेलोसी ताइवान की यात्रा करती हैं तो सेना हिंद-प्रशांत क्षेत्र में अपनी गतिविधियां बढ़ा देगी। 

उन्होंने विस्तृत जानकारी देने से इनकार किया, लेकिन कहा कि ताइवान यात्रा के दौरान उनके विमान को सुरक्षा देने में लड़ाकू विमानों, पोतों, निगरानी उपकरणों और अन्य सैन्य प्रणालियों का इस्तेमाल किए जाने की संभावना है। उन्होंने बताया कि किसी भी वरिष्ठ अमेरिकी नेता की विदेश यात्रा के दौरान अतिरिक्त सुरक्षा की जरूरत होती है। अधिकारियों ने इस सप्ताह कहा था कि पेलोसी अगर ताइवान की यात्रा करती हैं तो यह 1997 के किसी शीर्ष अमेरिकी निर्वाचित प्रतिनिधि की इस द्वीपीय देश की पहली यात्रा होगी और इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता होगी।

चर्चा करना जल्दबाजी होगी- मार्क मिले 

पेलोसी की ताइवान यात्रा को लेकर सैन्य तैयारी के बारे में अमेरिका के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टॉफ के प्रमुख जनरल मार्क मिले ने बुधवार को कहा कि किसी विशेष यात्रा पर चर्चा करना बहुत जल्दबाजी होगी। उन्होंने कहा, ‘अगर पेलोसी या अन्य यात्रा करने का निर्णय लेती हैं और सैन्य मदद की मांग करती हैं तो हम उनकी यात्रा सुरक्षित संपन्न करने के लिए जरूरी कदम उठाएंगे।’ गौरतलब है कि चीन, ताइवान पर अपना हक जताता है और उसने बलपूर्वक उस पर कब्जा करने की आशंकाओं से भी इनकार नहीं किया है। वहीं, अमेरिका के ताइवान के साथ रक्षा संबंध हैं, लेकिन वह चीन की सरकार को केंद्रीय सरकार के तौर पर मान्यता देता है।

बहरहाल, पेलोसी ने अभी ताइवान की यात्रा करने की योजनाओं की पुष्टि नहीं की है। वह इस साल अप्रैल में ताइवान की यात्रा करने वाली थीं, लेकिन कोरोना वायरस से संक्रमित होने की वजह से यात्रा को टाल दिया गया। व्हाइट हाउस ने सोमवार को इस मामले में सीधे तौर पर कुछ कहने से इनकार कर दिया था। हालांकि राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पिछले सप्ताह पत्रकारों से कहा था कि अमेरिकी सैन्य अधिकारियों का मानना है कि अभी अध्यक्ष के लिए ताइवान की यात्रा करना ‘अच्छा विचार नहीं’ है। अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि उन्हें आशंका है कि चीन सीधे तौर पर पेलोसी के खिलाफ कार्रवाई करेगा या उनके विमान को नष्ट करने की कोशिश करेगा। 

वे इस संभावना से इनकार नहीं कर सकते हैं कि इस यात्रा से चीन उकसाने के इरादे से ताइवान के नजदीक लड़ाकू विमानों को भेज सकता है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने बुधवार को पेलोसी की प्रस्तावित ताइवान यात्रा को लेकर चेतावनी दोहराई। उन्होंने कहा, ‘अगर अमेरिका अपनी ही राह पर चलने के लिए जोर देगा और चीन के मूल मुद्दों को चुनौती देगा, तो निश्चित तौर पर मजबूत जवाब मिलेगा। इसके नतीजों की सभी जिम्मेदारी अमेरिका की होगी।’

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here