जापान: पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के अंतिम संस्कार कार्यक्रम में खर्च होंगे 12 मिलियन डॉलर, विवाद!


हाइलाइट्स

पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के अंतिम संस्कार कार्यक्रम में जापान सरकार 95 करोड़ से अधिक रूपए खर्च कर रही है
टोक्यो के निप्पॉन बुडोकन हॉल में आयोजित होगा समारोह
यूनीफिकेशन चर्च के साथ संबंध पर शिंजो आबे की हत्या कर दी गई थी

टोक्यो. जापान की फुमियो किशिदा सरकार ने मंगलवार को बताया कि वह पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के अंतिम संस्कार पर लगभग 12 मिलियन अमेरिकी डॉलर (1.65 बिलियन येन) खर्च करेंगे, जिसमें सुरक्षा और रिसेप्शन लागत भी शामिल है. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार इससे पहले फुमियो किशिदा की सरकार ने महज 250 मिलियन येन का मामूली बजट पेश किया था जिसमें वीआईपी की सुरक्षा और मेजबानी के लिए खर्च को शामिल न करने पर भारी विवाद हो गया था. हालांकि अब सरकार ने मोटी रकम अपने पूर्व प्रधानमंत्री के अंतिम संस्कार कार्यक्रम के लिए पारित कर दी है.

6000 अतिथि होंगे शामिल
27 सितंबर को टोक्यो के निप्पॉन बुडोकन हॉल में आयोजित होने वाले समारोह में विदेशी गणमान्य व्यक्तियों सहित लगभग 6,000 मेहमानों के शामिल होने की उम्मीद है. आपको बात दें कि आबे की जुलाई में एक चुनावी रैली के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हत्यारे का आरोप था कि शिंजो आबे के विवादित यूनीफिकेशन चर्च के साथ संबंध थे. संदिग्ध हत्यारे के मुताबिक उसकी मां चर्च के चलते दिवालिया हो गई थी और शिंजो इस चर्च को प्रमोट कर रहे थे. यह संगठन सामूहिक शादियों और आक्रामक धन उगाहने की रणनीति के लिए जाना जाता है. यूनीफिकेशन चर्च पर धर्म के नाम पर अंधविश्वास फैलाने के भी आरोप लगते रहे हैं.

56 प्रतिशत लोग टैक्स मनी लगाने के विरोध में
प्रधानमंत्री शिंजो आबे के अंतिम संस्कार पर कर दाता का पैसा लगाने का लोग विरोध कर रहें हैं. योमिउरी अखबार के सर्वेक्षण में 56% लोगों ने कर दाताओं के पैसों से होने वाले अंतिम संस्कार का विरोध किया है. हालांकि 38 प्रतिशत ने माना कि सरकार को आबे का अंतिम संस्कार कार्यक्रम कर दाताओं के पैसे से करना चाहिए. साथ ही यूनिफिकेशन चर्च से संबंधों की खबरों के बाद सरकार की डिसअप्रूवल रेटिंग भी 40 प्रतिशत से अधिक हो गई है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : September 06, 2022, 09:38 IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here