जेलेंस्की ने खार्किव के स्टेट सिक्योरिटी हेड को किया बर्खास्त, नाकामी के लगे आरोप


कीव. रूस तीन महीने से यूक्रेन पर हमले कर रहा है. रूसी सेना ने यूक्रेन के सेवेरोडोनेट्स्क और खार्किव शहर पर हमले तेज कर दिए हैं. वहीं, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने रविवार को यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खार्किव का दौरा किया. इस दौरान उन्होंने खार्किव के स्टेट सिक्योरिटी हेड रोमन ड्यूडिन को बर्खास्त कर दिया है. जेलेंस्की के मुताबिक, स्टेट सिक्योरिटी हेड खार्किव शहर को डिफेंड करने में नाकाम रहे, इसलिए उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई है. जांच एजेंसी उनके खिलाफ जांच करेगी.

ज़ेलेंस्की ने कहा कि स्टेट सिक्योरिटी हेड पूर्ण पैमाने पर युद्ध के पहले दिनों से शहर की सुरक्षा करने में नाकाम रहे. जबकि, बाकी लोग बहुत प्रभावी ढंग से काम कर रहे हैं. उन्हें शहर से पहले खुद के बारे में फैसले लेने के लिए बर्खास्त कर दिया गया है. इससे पहले, ज़ेलेंस्की के कार्यालय ने राष्ट्रपति के टेलीग्राम पर बुलेट-प्रूफ जैकेट पहने हुए एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें वह खार्किव और उसके आसपास की इमारतों को दौरा कर रहे थे.

इस बीच यूक्रेनी राष्ट्रपति सोमवार को ब्रसेल्स में यूरोपीय संघ के नेताओं से वीडियो लिंक के जरिए बात करने के लिए तैयार हैं. इस मीटिंग में रूसी तेल प्रतिबंध पर गतिरोध को तोड़ने की कोशिश होगी.

पुतिन से बात की जताई इच्छा
राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने कहा है कि अगर रूस युद्ध खत्म करने के लिए तैयार है तो वो राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात करना चाहेंगे. तो वहीं उन्होंने ये भी कहा कि इतने दिनों में रूस (Russia) ने युद्ध खत्म करने के लिए बातचीत की कोई इच्छा नहीं दिखाई है. उन्होंने स्वीकार किया कि रूस की आक्रामकता के बीच रूस के साथ बातचीत करने की कोई बहुत इच्छा नहीं थी, लेकिन ये यूक्रेनवासियों के जीवन को सामान्य करने का एक तरीका हो सकता है.

जेलेंस्की ने कहा कि ये मुलाकात ठीक इसलिए है ताकि हमारा देश जिंदा रह सके, ताकि इस युद्ध का अंत हो सके, ताकि हमारे लोग वापस आ सकें और दुनिया में खाद्य संकट न हो. इससे पहले बुधवार को भी जेलेंस्की ने कहा था कि वो वो केवल रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ ही बातचीत करेंगे न कि किसी के माध्यम से.

Tags: Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here