दक्षिण कोरिया में हैलोवीन पार्टी के दौरान भयानक भगदड़, 100 से ज्यादा लोगों की मौत


दक्षिण कोरिया में हैलोवीन के दौरान मची भगदड़- India TV Hindi News

Image Source : ANI
दक्षिण कोरिया में हैलोवीन के दौरान मची भगदड़

South Korea Stampede: दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में हैलोवीन के दौरान एक संकरी गली में घुसी भारी भीड़ के बीच अचानक भगदड़ मच गई। इस भगदड़ में कुचलकर और दिल का दौरा पड़ने के कारण 100 से ज्यादा लोगों मौत की खबर है। मौत का ये आंकड़ा अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट्स और लोकल अधिकारियों के हवाले से दिया गया है। न्यूज एजेंसी एपी के मुताबिक इस भगदड़ में 120 लोगों की मौत हो गई और 100 से ज्य़ादा लोग घायल हैं। मौत का ये आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है।

संकरी गली में भीड़ घुसने से मची भगदड़


इससे पहले ‘नेशनल फायर एजेंसी’ के अधिकारी चोई चेओन-सिक ने बताया था कि कम से कम 60 लोगों का इलाज चल रहा है और मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। अधिकारियों ने बताया कि ऐसा माना जा रहा है कि सोल के प्रमुख पार्टी स्पॉट हैमिल्टन होटल की ओर जा रहे लोगों की भीड़ एक संकरी गली में घुस गई और इसी दौरान मची भगदड़ में लोग हताहत हुए हैं। 

लोगों को दिल का दौरा पड़ने से गई कई जानें

वहीं दमकल अधिकारियों के मुताबिक, सियोल के इटावन जिले में दिल का दौरा पड़ने के बाद करीब 50 लोगों को सीपीआर दिया जा रहा है। हैलोवीन पार्टियों में लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई थी। योनहाप समाचार एजेंसी ने बताया कि आपातकालीन अधिकारियों को इटावन से कम से कम 81 कॉल आए, जिसमें कहा गया कि उन्हें सांस लेने में कठिनाई हो रही है। ये भगदड़ इटावन के नाइटलाइफ जिले में हैमिल्टन होटल के पास हुई, माना जा रहा है कि बड़ी संख्या में लोग होटल के पास एक संकरी गली में घुस गए थे।

अलर्ट मोड पर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री 

भगदड़ पर एक आपात बैठक की अध्यक्षता करने वाले राष्ट्रपति यूं सुक-योल ने अधिकारियों को त्वरित प्राथमिक उपचार और घायलों का इलाज करने का आदेश दिया। यूं ने अधिकारियों को इटावन में आपातकालीन चिकित्सा अधिकारियों को तैनात करने और आपातकालीन बिस्तरों को सुरक्षित करने का भी आदेश दिया। वहीं प्रधानमंत्री हान डक-सू ने अधिकारियों को नुकसान को कम करने के लिए हर संभव प्रयास करने का निर्देश दिया। शहर के अधिकारियों ने कहा- इस बीच, सियोल के मेयर ओह से-हून, जो यूरोप की यात्रा पर हैं, उन्होंने दुर्घटना के मद्देनजर स्वदेश लौटने का फैसला किया।

करीब 150 फायर टेंडर की गाड़ियां तैनात

बताया जा रहा है कि घटनास्थल पर कुल 142 अग्निशमन वाहन लगाए गए हैं। दिल की धड़कन रुकने से पीड़ित लगभग 50 लोगों सहित, अग्निशमन अधिकारियों ने अनुमान लगाया कि लगभग 100 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। अधिकारियों ने बताया कि रविवार (स्थानीय समयानुसार) दोपहर करीब एक बजे तक कुल 21 लोगों को आपातकालीन वार्ड में भेजा गया, जिनमें ज्यादातर 20 साल की महिलाएं थीं।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here