दावा: रूस ने कैलिबर मिसाइलों से यूक्रेन भेजे गए पश्चिमी हथियारों के ‘बड़े जखीरे’ को तबाह किया


लंदन. रूस की सेना ने शनिवार को कहा कि उसने यूक्रेन के ज़ाइटॉमिर क्षेत्र, कीव के पश्चिम में पश्चिमी देशों द्वारा भेजे गए हथियारों की एक बड़ी खेप को समुद्र से प्रक्षेपित कैलिबर क्रूज मिसाइलों का इस्तेमाल करके नष्ट कर दिया है. रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ‘संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय देशों से लाए गए हथियारों और सैन्य उपकरणों की एक बड़ी खेप’ पर क्रूज मिसाइलों से हमला किया गया. इन मिसाइलों के निशाने पर पूर्वी डोनबास क्षेत्र में अपनी जमीन बचाने के लड़ रहे यूक्रेनी सैनिक भी थे.

रूस ने यूक्रेन के पूर्वी डोनबास क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए हमले तेज कर दिए हैं. रॉयटर्स स्वतंत्र रूप से रिपोर्ट को सत्यापित नहीं कर सका, जिसमें यह भी कहा गया था कि रूसी मिसाइलों ने काला सागर तट पर ओडेसा के पास ईंधन भंडारण सुविधाओं पर हमला किया था और दो यूक्रेनी एसयू -25 विमान और 14 ड्रोन को मार गिराया था. युद्ध पर अपने नवीनतम अपडेट में, जिसे रूस ‘विशेष सैन्य अभियान’ कहता है, रक्षा मंत्रालय ने यह भी कहा कि रूस ने कई यूक्रेनी कमांड पोस्ट पर हमला किया था.

रूस के 24 फरवरी के आक्रमण के बाद से पश्चिमी देशों ने यूक्रेन को हथियारों की आपूर्ति बढ़ा दी है और रूस की सेना लगातार उन्हें रोकने और नष्ट करने की कोशिश कर रही है. मॉस्को का कहना है कि कीव के लिए पश्चिमी हथियारों की आपूर्ति और रूसी अर्थव्यवस्था के खिलाफ कठोर प्रतिबंध लगाना, संयुक्त राज्य अमेरिका और उसके सहयोगियों द्वारा ‘छद्म युद्ध’ के बराबर है.

‘रूस पश्चिमी सीमा को करेगा मजबूत’
इस बीच, रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने कहा है कि नाटो की बढ़ती सैन्य गतिविधि और फिनलैंड और स्वीडन के संभावित विलय के जवाब में रूस अपने पश्चिमी सैन्य जिले में 12 नई सैन्य इकाइयां बनाएगा. शोइगु ने शुक्रवार को रक्षा मंत्रालय बोर्ड की एक बैठक के दौरान कहा, “संयुक्त राज्य अमेरिका और नाटो हमारी सीमाओं के पास पैठ और युद्ध प्रशिक्षण बढ़ा रहे हैं.” उन्होंने कहा कि, “इसके अलावा, हमारे निकटतम पड़ोसियों फिनलैंड और स्वीडन ने नाटो में शामिल होने के लिए आवेदन किया है.”

Tags: Russia, Ukraine



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here