नाटो चीफ ने दी चेतावनी, सालों तक जारी रह सकता है रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध, बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी


नई दिल्ली: रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन के खिलाफ सैन्य (Russia Ukraine War) कार्रवाई शुरू की थी. दोनों देशों के बीच पिछले 116 दिनों से युद्ध चल रहा है और अभी भी हालात संकट ग्रस्त बने हुए हैं. इस बीच रविववार को रूस यूक्रेन युद्ध को लेकर नाटो प्रमुख ने एक बड़ी बात कही है. नाटो प्रमुख ने कहा कि रूस यूक्रेन के बीच युद्ध सालों तक चल सकता है. उन्होंने कहा कि पश्चिमी देशों को यूक्रेन का समर्थन जारी रखने के लिए तैयार रहना होगा.

नेटो के महासचिव जेंस स्टोल्टेनबर्ग (Jens Stoltenberg) ने कहा कि रूस और यूक्रेन के बीच चल रही लड़ाई की कीमत बहुत बड़ी है लेकिन अगर रूस अपने सैन्य मकसद को हासिल कर लेता है तो उसकी कीमत इससे कहीं ज्यादा बड़ी होगी.

बोरिस जॉनसन भी दे चुके हैं चेतावनी
बता दें कि इससे पहले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भी इस बात को लेकर दुनिया तो आगाह किया था कि रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध काफी लंबा खिच सकता है. बोरिस जॉनसन और जेंस स्टोल्टेनबर्ग दोनों ने ही ये बात कही है कि ज़्यादा हथियार भेजे जाने से यूक्रेन की जीत की संभावना बढ़ जाएगी.

एक जर्मन अखबर बिल्ड को दिए इंटरव्यू में नाटो प्रमुख ने कहा कि हमें इस बात लेकर तैयार रहना होगा कि रूस और यूक्रेन के बीच चल रहा युद्ध सालों तक खिंच सकता है. हमें यूक्रेन के समर्थन में पीछे नहीं हटना चाहिए, हमें चाहे भले ही इसकी कोई भी कीमत चुकानी पड़े.

हर स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए
उन्होंने कहा कि हमें चाहे यूक्रेन को मिलिट्री सपोर्ट देना पड़े या फिर युद्ध की वजह से तेल, गैस और खाद्य पदार्थो की बढ़ती कीमतों का सामना करना पड़े. हमे हर स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए.

पश्चिमी देशों के सैन्य सगंठन प्रमुख ने कहा कि यदि हम यूक्रेन को भारी मात्रा में आधुनिक हथियार उपलब्ध कराते हैं तो इससे डोनबास के इलाके को आजाद कराने की संभावना बढ़ जाएगी.

उन्होंने बताया कि इस समय डोनबास का हिस्सा रूस के कंट्रोल में आ गया है. पिछले कुछ वक्त से रूस के सैनिक देश के पूर्वी इलाके में अपनी पकड़ को मजबूत करने के लिए लड़ रहे हैं. हाल के दिनों में रूस ने इस इलाके में अपनी गतिविधियों को तेज कर दिया है.

Tags: NATO, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here