नूपुर शर्मा के बयान पर फिर बोले इमरान, पाकिस्तान सरकार से कहा- जल्दी करो ये काम


Imran Khan - India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO
Imran Khan 

Highlights

  • विवादित टिप्पणी पर इमरान खान ने दिया बयान
  • सरकार को भारत से संबंध तोड़ लेने चाहिए: खान
  • ‘मोदी सरकार के खिलाफ कड़ा रुख अपनाना चाहिए’

Nupur Sharma Controversy: पैगंबर मोहम्मद साहब पर नूपुर शर्मा के विवादित बयान का मामला इन दिनों दुनियाभर में चर्चा का विषय बना हुआ है। खासकर इस्लामिक देशों में नूपुर शर्मा के बयान को लेकर निंदा की जा रही है। मामला तूड़ पकड़ने के बाद बीजेपी ने नूपुर शर्मा को पार्टी से छह साल के लिए निलंबित कर दिया है। अब विवादित टिप्पणी पर एक बार फिर पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने बयान दिया है। 

विवादित टिप्पणी की नींदा करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान सरकार से भारत के साथ संबंध तोड़ने और इस मुद्दे पर कठोर रुख अपनाने को कहा है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष, अपदस्थ प्रधानमंत्री ने मंगलवार को इस्लामाबाद में वकीलों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह मांग की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार को अरब देशों का अनुसरण करना चाहिए और नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ कड़ा रुख अपनाना चाहिए। 

‘भारतीय उत्पादों का बहिष्कार किया जाना चाहिए’

खान ने कहा, “सरकार को भारत से संबंध तोड़ लेने चाहिए। भारतीय उत्पादों का बहिष्कार किया जाना चाहिए।” इमरान खान ने इससे पहले सोमवार को पैगंबर मोहम्मद पर बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा (अब पार्टी से निलंबित) की ओर से घृणित हमले की कड़ी निंदा की थी। इसके साथ ही मोदी सरकार पर जानबूझकर भारत में मुसलमानों के प्रति उत्तेजना और नफरत की नीति का पालन करने का आरोप लगाया, जिसमें उनके खिलाफ हिंसा को उकसाना भी शामिल था। वहीं, पाकिस्तान प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने रविवार को पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ आहत करने वाली टिप्पणी की निंदा की। 

बता दें कि भारत सरकार की ओर से 5 अगस्त, 2019 को जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को रद्द करने के लिए संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्तों में दरार और गहरा गई थी। भारत के फैसले पर पाकिस्तान से कड़ी प्रतिक्रिया हुई, जिसने राजनयिक संबंधों के स्तर को कम कर भारतीय दूत को निष्कासित कर दिया। 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here