नैंसी पेलोसी की चीन को दो टूक, कहा-ताइवान के साथ हम आज भी अडिग


हाइलाइट्स

अमेरिकी सीनेट की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने ताइवान की राष्ट्रपति से मुलाकात की
नैंसी पेलोसी ने कहा 43 साल पहले अमेरिका ने जो वादा किया था उस पर अडिग
पेलोसी ने कहा सुरक्षा के मुद्दे पर अमेरिका ताइवान का हमेशा साथ देता रहेगा

नई दिल्ली. भारी सुरक्षा बंदोबस्त के बीच अमेरिकी सीनेट की स्पीकर नैंसी पेलोसी आखिरकार अपनी ताइवान यात्रा को पूरी कर ली है और प्रस्तावित दक्षिण कोरिया की यात्रा पर रवाना हो गई हैं. उनकी यात्रा के बाद चीन और अमेरिकी में जबरदस्त तनाव पैदा हो गया है. चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है और यहां किसी भी देश के प्रतिनिधियों को जाने से रोकता है. लेकिन अमेरिकी स्पीकर नैंसी पेलोसी ने चीनी धमकी को धता बताते हुए ताइवान की सफल यात्रा पूरी कर ली है. उन्होंने अपने यात्रा के दौरान ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग वेन से औपचारिक मुलाकात की और ताइवान को समर्थन के प्रति अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की. उन्होंने कहा कि हमें ताइवान के साथ अपनी दोस्ती पर गर्व है.

अमेरिकी आज भी ताइवान के साथ अडिग
नैंसी पेलोसी मंगलवार देर रात ताइवान पहुंची थीं. उनके साथ एक उच्च अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल भी शामिल था. बुधवार को उन्होंने ताइवान की संसद को संबोधित किया. नैंसी ने राष्ट्रपति साई इंग वेन से भी मुलाकात की. पेलोसी ने चीन की घुड़की को सीधे चुनौती देते हुए कहा अमेरिका ने 43 साल पहले ताइवान के साथ खड़े रहने का जो वादा किया था, वो उस पर आज भी अडिग है. उन्होंने कहा कि सुरक्षा के मुद्दे पर अमेरिका ताइवान का हमेशा साथ देता रहेगा. पेलोसी ने कहा, हम हर पल उनके साथ है. हमें ताइवान की दोस्ती पर गर्व है.

चीन ने ताइवान को घेरने की रणनीति बनाई
पेलोसी के पहुंचते ही चीन आगबबूला हो गया और ताइवान पर कई प्रतिबंध लगा दिए. इतना ही नहीं चीनी सेना ने 21 सैन्य विमानों से ताइवान के दक्षिण-पश्चिमी हिस्से में उड़ान भरकर अपनी ताकत दिखाई. चीन ने ताइवान को आर्थिक नाकेबंदी के लिए कई तरह के प्रतिबंधों की घोषणा की है. चीनी सरकार ने ताइवान को नेचुरल सैंड देने पर रोक लगा दी है. इससे ताइवान को काफी नुकसान हो सकता है. कोरोना महामारी के बाद ताइवान सैंड से काफी कमाई करता है. ऐसे में रेत का निर्यात रोकने से ताइवान को आर्थिक नुकसान होगा. एक जुलाई को भी चीन ने ताइवान के 100 से ज्यादा फूड सप्लायर से आयात (इम्पोर्ट) पर प्रतिबंध लगाया था. इतना ही नहीं चीन ने ताइवान को चारों तरफ से घेरने के लिए अपनी सैन्य रणनीति बनाई है. उसने कहा कि ताइवान के चारों ओर समुद्र में वह मिलिट्री ड्रील करेगा.

Tags: America, China, Taiwan



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here