‘पाकिस्तान को भारत से रिश्ते तोड़कर क्या मिला?’ बिलावल भुट्टो ने दिया बड़ा बयान


India Pakistan Relations, Bilawal Butto, Bilawal Butto News, Bilawal Butto on India- India TV Hindi
Image Source : FACEBOOK.COM/BILAWALBHUTTOZARDARIPK
Pakistan Foreign Minister Bilawal Butto-Zardari.

Highlights

  • बिलावल ने कहा कि पाकिस्तान दुनिया में पहले ही अलग-थलग पड़ा हुआ है।
  • भारत के साथ रिश्ते तोड़ना मुल्क के लिए कहीं से फायदेमंद नहीं होगा: बिलावल
  • पाकिस्तान और भारत के बीच जंग और लड़ाई का काफी लंबा इतिहास रहा है: बिलावल

India Pakistan Relations: पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो-जरदारी ने गुरुवार को भारत के साथ रिश्ते रखने को लेकर बड़ा बयान दिया। बिलावल ने भारत के साथ संबंध बहाली की जोरदार वकालत की है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान दुनिया में पहले ही अलग-थलग पड़ा हुआ है, ऐसे में भारत के साथ रिश्ते तोड़ना मुल्क के लिए कहीं से फायदेमंद नहीं होगा। देश की राजधानी इस्लामाबाद में सामरिक अध्ययन संस्थान के स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए बिलावल ने कहा कि कुछ हालिया घटनाओं की वजह से भारत के साथ जुड़ाव नामुमकिन भले ही न हो, लेकिन मुश्किल जरूर है।

‘हमारे बीच जंग का लंबा इतिहास रहा है’

बिलावल भुट्टो ने कहा, ‘भारत के साथ हमारे मुद्दे हैं। पाकिस्तान और भारत के बीच जंग और लड़ाई का काफी लंबा इतिहास रहा है। आज, हमारे बीच गंभीर विवाद हैं और अगस्त 2019 की घटनाओं को हल्के में नहीं लिया जा सकता।’ बता दें कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने के लिए 5 अगस्त 2019 को भारत ने संविधान के अनुच्छेद 370 को निरस्त करने की घोषणा की थी। भारत के इस कदम के बाद दोनों देशों के बीच रिश्तों में दरार आ गई थी। पाकिस्तान ने इस फैसले पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए राजनयिक संबंधों को कमतर किया था और भारतीय दूत को निकाल दिया था।

‘पाकिस्तान के लिए जुड़ाव बहुत मुश्किल’
कश्मीर मुद्दे पर बोलते हुए बिलावल ने कहा कि यह मुद्दा ‘विदेश मंत्री बनने के बाद से मेरी किसी भी बातचीत का आधार बिंदु बन गया है।’ भारत के साथ संबंध बहाली का जिक्र करते हुए पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा, ‘मई में, हमारे पास (जम्मू-कश्मीर में) परिसीमन आयोग था और फिर हाल में (बीजेपी के) पदाधिकारियों के ‘इस्लामोफोबिया’ वाले बयानों ने एक ऐसा माहौल बना दिया है, जिसमें पाकिस्तान के लिए जुड़ाव असंभव नहीं, हालांकि, बहुत मुश्किल है।’

कश्मीर मुद्दा उठाता रहा है पाकिस्तान
बिलावल ने थिंक टैंक कार्यक्रम में मौजूद लोगों से पूछा कि क्या भारत के साथ संबंध तोड़ने से पाकिस्तान के हितों की पूर्ति हो रही है, चाहे वह कश्मीर पर हो, चाहे वह बढ़ते इस्लामाफोबिया पर हो या भारत में हिंदुत्व की विचारधारा पर जोर देना हो। बता दें कि पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे को लगातार इंटरनेशनल फोरम पर उठाता रहा है और इस्लामिक देशों के संगठन OIC से भी इस पर बयान जारी करवाता रहा है। हालांकि भारत की तरफ से पाकिस्तान की ऐसी किसी भी कोशिश का जवाब जरूर दिया जाता है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here