पाकिस्तान में बाढ़ ने बढ़ाई मुसीबत, महंगाई रिकॉर्ड स्तर पर, जरूरी सामान मार्केट से गायब


नई दिल्ली: पड़ोसी देश पाकिस्तान (Pakistan) में हर महंगाई तेजी से बढ़ रही है. अभी हाल ही में मंहगाई को लेकर आईएमएफ (IMF) ने भी पाकिस्तान को चेतावनी दी थी. अब पाकिस्तान सांख्यिकी ब्यूरो (PBS) ने मुद्रास्फीति पर एक बड़ी बात कही है. शुक्रवार को पीबीएस ने कहा कि सेंसटिव प्राइस इंडेक्स (SPI) द्वारा मापी गई मुद्रास्फीति पिछले सप्ताह से बढ़कर सितंबर में अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है.

एसपीआई के मुताबिक सितंबर में सालाना आधार पर मुद्रास्फीति दर 45.5 प्रतिशत के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है जो कि एक साल में अब तक की सबसे उच्चतम दर है. पीबीएस के मुताबिक सब्जियों की कीमतों में उछाल की वजह से पिछले सप्ताह मुद्रास्फीति दर 1.31 प्रतिशत अधिक हो गई. इसकी एक बड़ी वजह देश में विनाशकारी बाढ़ भी है. बाढ़ की वजह से पाकिस्तान में करीब 33 मिलियन से अधिक लोग प्रभावित हैं.

बाढ़ से आपूर्ति व्यवस्था हुई ठप
रिपोर्ट के अनुसार यह लगातार तीसरा सप्ताह था जब मुद्रास्फीति की दर में लगातार बढ़ोतरी हुई है. देश में खतरनाक बाढ़ की वजह से सामानों की आपूर्ति व्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है. मंडियों में सब्जी नहीं पहुंच पा रही है जिससे सब्जियों के दाम आसमान छूने लगे हैं. जगह जगह जरूरी सामानों की किल्लत होने लगी है.

31 सामानों के बढ़ गए दाम
जियो न्यूज के नए आंकड़ों से पता चलता है कि देश में करीब 31 जरूरी सामानों जिसमें प्याज, टमाटर, अंडे आदि की औसत कीमतों में पिछले कुछ सप्ताह में तेजी आई है. वहीं इसके विपरीत कुछ सब्जियों और घी समेत तीन वस्तुओं में गिरावट भी दर्ज की गई है. वहीं करीब 17 ऐसे सामान हैं जिनके दाम अभी भी स्थिर है.

रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में बाढ़ के बाद से प्याज 42.17 फीसदी, टमाटर 13.25 फीसदी, दाल मूंग 7.94 फीसदी, आलू 6.97 फीसदी, अंडे 3.84 फीसदी, चिकन 3.25 फीसदी, गेहूं सहित खाद्य पदार्थों की कीमतों में वृद्धि हुई है.

Tags: Flood, Pakistan



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here