पाकिस्तान में बाढ़ से मचा हाहाकार, 3 हजार KM सड़कें बहीं, 20 लाख एकड़ फसल नष्ट, जानें पूरा अपडेट


Pakistan Flood- India TV Hindi News
Image Source : AP
Pakistan Flood

Pakistan News: पाकिस्तान में बाढ़ की वजह से हड़कंप मचा हुआ है और जनता हाहाकार कर रही है। बीते 10 दिनों में यहां जो मूसलाधार बारिश हुई है, उसकी वजह से 30 सालों के सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं। अब तक यहां 1100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है 10 लाख से ज्यादा लोग अपने घरों को खो चुके हैं। इस बाढ़ का असर पाकिस्तान के 3 करोड़ लोगों पर पड़ा है। बाढ़ से सिर्फ पाकिस्तान के लोगों को ही फर्क नहीं पड़ा है बल्कि पशुओं की भी हालत खराब है। अब तक 7 लाख से ज्यादा पशुओं की मौत इस बाढ़ की वजह से हो चुकी है। 

सड़कें बहीं, फसल हुई नष्ट

बाढ़ की वजह से पाकिस्तान में अब तक की 3 हजार किलोमीटर की सड़कें बह चुकी हैं। ऐसे में जनता को राहत सामग्री पहुंचाने में भी दिक्कत हो रही है। इसके अलावा बाढ़ ने फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचाया है। करीब 20 लाख एकड़ में फैली फसल नष्ट हो चुकी है। बाढ़ का सबसे ज्यादा असर सिंध, बलूचिस्तान, खैबर-पख्तूनख्वा और पंजाब राज्य में दिखाई दे रहा है। 

क्यों हो रही ज्यादा बारिश 

जानकारों का मानना है कि इस बार पृथ्वी के तापमान में 1 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हुई है, इसी वजह से दक्षिण एशिया के देशों में 5 प्रतिशत ज्यादा बारिश हो रही है। दक्षिण एशिया के देशों में भारत, पाकिस्तान बांग्लादेश जैसे कई देश आते हैं। 

पाकिस्तान में कितनी ज्यादा हुई बारिश

पाकिस्तान में औसतन 130 मिमी बारिश होती है लेकिन इस बार ये बारिश 385 मिमी हुई है। मौसम विभाग के मुताबिक, सितंबर तक इसी तरह भारी बारिश का अनुमान है। इस बार सिंध में सामान्य से 784 प्रतिशत, बलूचिस्तान में 522 प्रतिशत, गिलगित बालिटस्तान में 225 प्रतिशत, पंजाब में 62 प्रतिशत और खैबरपख्तूनख्वां में 54 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई है। 

यूएन चीफ करने वाले हैं दौरा

पाकिस्तान में बाढ़ की वजह से जो बेकाबू स्थिति है, उसे देखने के लिए संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस अगले सप्ताह पाकिस्तान जाएंगे। गुटेरेस वहां पहुंचकर हालातों का जायजा लेंगे और उसकी समीक्षा भी करेंगे। गौरतलब है कि यूएन पहले ही इमरजेंसी हेल्प के तौर पर 3 मिलियन डॉलर फंड रिलीज कर चुका है।

 

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here