पुर्तगाल में फॉरेस्ट फायर ने बढ़ाई चिंता, धधकती आग की चपेट में हजारों एकड़ जमीन


हाइलाइट्स

यूरोप में बढ़ती गर्मी ने एक बार फिर क्लाइमेट चेंज पर बहस छेड़ दी है
गर्मी के कारण कई जगह स्कूल और कॉलेज को अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है
पुर्तगाल में इससे पहले लगी भीषण आग में 200 लोगों की जान चली गई थी

लिस्बन. यूरोप में बढ़ती हीट वेव (Heatwaves in Europe) के साथ जंगलों में आग लगने की घटनाएं आम बात होती जा रही हैं. बढ़ते तापमान के बीच फ्रांस (France) और पुर्तगाल (Portugal) के जंगल आग से धधक रहे हैं. पुर्तगाल की राजधानी लिस्बन (Lisbon) के उत्तर में स्थित मफरा क्षेत्र में आग जहां विकराल रूप धारण कर रही है तो वहीं फ्रांस में आगे बुझाने के दौरान चार दमकलकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए.

समाचार एजेंसी एएफपी (AFP) की एक खबर के मुताबिक लिस्बन के उत्तर में लगभग 40 किलोमीटर (25 मील) की दूरी पर आग पर काबू पाने के लिए 400 दमकलकर्मियों का दस्ता भेजा जा रहा है. आग की बढ़ती लपटों के बीच राहत कार्य को भी तेज कर दिया गया है. नागरिक सुरक्षा प्राधिकरण के कमांडर पाउलो सैंटोस ने स्थानीय रेनासेंका रेडियो को बताया कि एहतियात के तौर पर 30 लोगों के आवास को खाली करा दिया गया था. इन लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है. स्थानीय मीडिया के मुताबिक घटनास्थल के पास मौजूद पुर्तगाली लोग अपने बगीचों को आग की चपेट से बचाने के लिए लगातार पानी का छिड़काव कर रहे हैं.

ब्रिटेन जलवायु परिवर्तन से हीटवेव की संभावना 10 गुना बढ़ी, अध्ययन में कही ये बात

उत्तरी और मध्य पुर्तगाल में भी आग ने बढ़ाई चिंता
पुर्तगाल के उत्तरी और मध्य क्षेत्र में लगी आग ने भी परेशानियों को बढ़ा दिया है. सरकारी एजेंसी के मुताबिक आग पर काबू पाने के लिए 1,000 से अधिक दमकलकर्मियों की आवश्यकता होगी. वहीं मौसम विज्ञान संस्थान के अनुसार उत्तरी और मध्य पुर्तगाल के कुछ हिस्सों को इस सप्ताह के अंत में अलर्ट पर रखा गया है. इन क्षेत्रों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहने की संभावना है. बढ़ती गर्मी से चिंतित प्रशासन ने लोगों को घर में ही रहने की सलाह दी है. साथ ही अधिक से अधिक पानी पीने को भी कहा जा रहा है.

क्लाइमेट चेंज
विशेषज्ञ बढ़ते तापमान के लिए जलवायु परिवर्तन (Climate Change) को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. विशेषज्ञों के अनुसार यूरोप को अभी और अधिक गंभीर परिणामों के लिए तैयार रहना चाहिए. प्रकृति और वन संरक्षण संस्थान (आईसीएनएफ) के आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष 58,000 हेक्टेयर (143,000 एकड़) से अधिक जमीन आग की चपेट में आ चुकी हैं. आपको बता दें कि पुर्तगाल में वर्ष 2017 में लगी आग के कारण 100 लोगों की जान चली गई थी.

Tags: Climate Change, Portugal



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here