प्रायश्चित यात्रा के लिए कनाडा रवाना होंगे पोप फ्रांसिस, कैथोलिक स्कूलों के पीड़ितों से करेंगे भेट


वेटिकन सिटी: पोप फ्रांसिस ने रविवार को कहा कि वे कनाडा दौरे पर जाएंगे, जहां वह कैथोलिक चर्च द्वारा संचालित आवासीय विद्यालयों में दुर्व्यवहार के शिकार लोगों से मिलेंगे. उन्होंने एंजेलस प्रार्थना के अंत में कहा, “अगले रविवार, भगवान की इच्छा है, मैं कनाडा के लिए रवाना हो जाऊंगा,” उन्होंने अपने घुटने की समस्या को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि “मुझे पिछले महीने अफ्रीका की यात्रा स्थगित करनी पड़ी”.

उम्मीद है कि पोंटिफ अप्रैल में वेटिकन का दौरा करने वाले कनाडाई प्रतिनिधिमंडलों को दिए गए माफी को दोहराने के लिए एडमोंटन, क्यूबेक और इकालुइट में 24 से 30 जुलाई को अपनी यात्रा के लिए रवाना होंगे. फ्रांसिस ने रविवार को सेंट पीटर्स स्क्वायर में जमा भीड़ को बताया कि “ये उन्हें हुए नुकसान के लिए अपना दुख और एकजुटता व्यक्त कर रह रहे है”.

85 साल की उम्र में एक महत्वपूर्ण कदम
पोप ने कहा, ‘भगवान की कृपा से, अब मैं एक तपस्या तीर्थ यात्रा करने जा रहा हूं, जिसकी मुझे उम्मीद है, पहले से ही शुरू की गई चिकित्सा और सुलह की यात्रा में योगदान देगा.’ कनाडा की यात्रा 85 साल की उम्र में एक महत्वपूर्ण कदम है.

 कैथोलिक स्कूल में शव मिलने का इतिहास 
लगभग 150,000 फर्स्ट नेशन्स, मेटिस और इनुइट बच्चों को 1800 के दशक के अंत से 1990 के दशक तक पूरे कनाडा में 139 आवासीय स्कूलों में नामांकित किया गया था, जो कि जबरन आत्मसात करने की सरकारी नीति के हिस्से के रूप में था. उन्हें अपनी मातृभाषा तक बोलने नहीं दी जाती थी. ऐसा कहा जाता है कि इस दौरान करीब 6 हजार बच्चे मारे गए थे. साल 2008 में कनाडा की सरकार ने संसद में माफी भी मांगी थी और माना था कि उस वक्त क्रिश्चियन स्कूलों में बच्चों के साथ शारीरिक और यौन शोषण भी होता था.

स्कूलों में मई 2021 से अब तक 1,300 से अधिक अचिह्नित कब्रें खोजी जा चुकी हैं. स्कूल के एक अधिकारी ने  शवों के दफन होने की जानकारी दी थी. इस घटना पर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने भी दुख जताया है. उन्होंने कहा, “स्कूल में शव मिलने की खबर दिल दुखाती है.

Tags: Canada, Pope Francis, Vatican city



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here