बांग्लादेश के विदेश मंत्री से मिले एस जयशंकर, जेसीसी की 7वीं बैठक में इन मुद्दों पर हुई चर्चा


External Affairs Minister S. Jaishankar meets Bangladesh Foreign Minister AK Abdul Momen- India TV Hindi
Image Source : PTI
External Affairs Minister S. Jaishankar meets Bangladesh Foreign Minister AK Abdul Momen

Highlights

  • भारत-बांग्लादेश के बीच जेसीसी की 7वीं बैठक
  • एस जयशंकर और अब्दुल मोमेन ने की मुलाकात
  • द्विपक्षीय संबंधों सहित कई अहम मुद्दों पर हई चर्चा

India-Bangladesh JCC Meet: भारत और बांग्लादेश के बीच रविवार को नई दिल्ली में संयुक्त सलाहकार आयोग (जेसीसी) की 7वीं बैठक हुई। जेसीसी की सह-अध्यक्षता विदेश मंत्री एस. जयशंकर और बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने की। दिल्ली में आयोजित भारत और बांग्लादेश के बीच संयुक्त सलाहकार आयोग (जेसीसी) के 7वें दौर की बैठक में एस. जयशंकर ने कहा कि आज बांग्लादेश हमारा क्षेत्र में सबसे बड़ा विकासशील और ट्रेड भागीदार है। हमें खुशी है कि बांग्लादेश का निर्यात इस साल दो गुना हुआ है।

भारत के विदेश मंत्री जयशंकर ने क्या कहा?

जेसीसी की 7वीं बैठक के दौरान भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि हम बांग्लादेश के साथ नए क्षेत्र में अपने संबंधों को बढ़ाना चाहते हैं जिसमें AI, साइबर सिक्योरिटी, स्टार्टअप, फिनटेक शामिल हैं। हम दोनों देशों के बीच रेलवे नेटवर्क को उन्नत करने के लिए काम कर रहे हैं। 

बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने कही ये बात

दिल्ली में हुई अहम बैठक में बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए.के. अब्दुल मोमेन ने कहा कि भारत बांग्लादेश का सबसे नजदीकी और सबसे महत्वपूर्ण पड़ोसी है। दोनों देशों ने क्षेत्र में सुरक्षा और स्थिरता का माहौल स्थापित किया है। पिछले 50 साल में भारत और बांग्लादेश के मजबूत संबंध रहे हैं। लेकिन अगले 50 साल में ये संबंध और बेहतर हो सकते हैं, इसके लिए हम संयुक्त तौर पर प्रयास कर रहे हैं।

बैठक में इन मुद्दों पर रहा फोकस

जेसीसी में कोविड -19 के मद्देनजर सहयोग, सीमा प्रबंधन और सुरक्षा, व्यापार और निवेश, कनेक्टिविटी, ऊर्जा, जल संसाधन, विकास साझेदारी और क्षेत्रीय और बहुपक्षीय मुद्दों सहित द्विपक्षीय संबंधों के सभी पहलुओं की समीक्षा हुई। दोनों पड़ोसी देश 4,096 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा साझा करते हैं। बांग्लादेश और भारत भी सार्क, बिम्सटेक और राष्ट्रमंडल के सदस्य हैं। गौरतलब है कि कोविड -19 महामारी की शुरूआत के बाद से यह जेसीसी की पहली आमने-सामने की बैठक रही। इससे पहले इसे वर्चुअली 2020 में आयोजित किया गया था। 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here