बूचा की तरह मारियुपोल भी बना ‘कब्रिस्तान’? सैटेलाइट तस्वीरों में दिखी 200 से ज्यादा कब्रें


Russia-Ukraine Conflict: रूस और यूक्रेन के बीच जंग अब दूसरे महीने में पहुंच चुकी है और पुतिन इसे जल्‍द से जल्‍द जीत में बदलना चाहते हैं. विश्‍लेषकों का कहना है कि रूस का मारियुपोल पर कब्‍जा यूक्रेन की जंग में जीत की तरह है. यूक्रेन की ओर से लगातार मारियुपोल में फंसे लाखों लोगों को जल्द से जल्द बाहर निकालने की अपील की जा रही है. इन सबके बीच मारियुपोल की कुछ सैटेलाइट तस्वीरें सामने आई हैं. तस्वीरें सामूहिक कब्रों की हैं. मीडिया रिपोर्ट में यहां 200 से अधिक कब्र होने का दावा किया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, लाशों को उसमें या तो दफना दिया गया है या दफनाने की तैयारी चल रही है.

रूस पर आम लोगों के नरसंहार का आरोप पहली बार नहीं लगा है. इससे पहले रूसी सैनिकों ने बूचा में भी बड़ा नरसंहार किया था. तब उस घटना को लेकर रूस की काफी आलोचना हुई थी और संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद से उसे बाहर भी कर दिया गया था.

रूस के लिए कितना अहम है मारियुपोल पर कब्जा, क्यों खुश हो रहे हैं पुतिन?

यूक्रेन की मीडिया ने जारी की तस्वीर
यूक्रेन के मीडिया हाउस NEXTA ने यह तस्वीरें जारी करते हुए बताया है कि मारियुपोल से लगभग पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित स्टारी क्रिम गांव में यह सामूहिक कब्र है. इन कब्रों में बेगुनाह लोगों को मार कर रूसी सैनिक दफना रहे हैं.

MARIYOPOL 27

यूक्रेन के अधिकारियों का दावा है कि मारियुपोल में रूसी सेना की बमबारी से सड़कों पर ही 20 हजार लोग मारे गए हैं.

मेयर ने पहले भी किया था दावा
मारियुपोल के मेयर वादिम बोइचेंको ने कुछ दिन पहले ही यूक्रेन के इस दक्षिणी शहर को पूरी तरह से खाली कराने की अपील की थी. तब उन्होंने बतया था कि किस तरह रूसी सैनिक आम लोगों के साथ बर्बरता कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि, “हमें केवल एक चीज की जरूरत है और वह है आबादी की पूर्ण निकासी.”

अधिकतर घर हो चुके हैं खंडहर
मारियुपोल में रूसी सैनिकों ने करीब एक महीने से तबाही मचा रखी है. रिपोर्ट के मुताबिक यहां बिजली, पानी की व्यवस्था ठप हो चुकी है. लोगों को खाने के लिए भी जद्दोहजद करना पड़ रहा है. यहां मौजूद अधिकतर घर खंडहर हो चुके हैं. इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

रूस का बड़ा दावा- मारियुपोल पर अब हमारा कब्जा, यूक्रेनी सेना ने दूसरे देशों से मांगी मदद

मारियुपोल में 20 हजार लोगों की हुई मौत
यूक्रेन के अधिकारियों का दावा है कि मारियुपोल में रूसी सेना की बमबारी से सड़कों पर ही 20 हजार लोग मारे गए हैं. इसमें महिलाएं, बच्‍चे, बुजुर्ग शामिल हैं. इन लाशों को अब गायब कर दिया गया है. यूक्रेन का अनुमान है कि अभी भी 1 लाख लोग मारियुपोल में बने हुए हैं.

MARIYOPOL 28

मारियुपोल पर कब्‍जे के साथ ही रूस ने अब यूक्रेन के काला सागर के तटीय इलाके के 80 फीसदी क्षेत्र पर कब्‍जा कर लिया है.

काला सागर के 80 फीसदी क्षेत्र पर भी रूस का कब्जा
मारियुपोल पर कब्‍जे के साथ ही रूस ने अब यूक्रेन के काला सागर के तटीय इलाके के 80 फीसदी क्षेत्र पर कब्‍जा कर लिया है. इससे यूक्रेन न केवल समुद्री व्‍यापार से कट जाएगा, बल्कि दुनिया से अलग-थलग पड़ जाएगा. रूस ने मारियुपोल पर तोपों, रॉकेट और मिसाइलों से इतनी ज्‍यादा तबाही मचाई है कि करीब 90 फीसदी शहर बर्बाद हो गया है.

पुतिन ने इसलिए कब्जे को बताया ‘मुक्ति’
मारियुपोल तट गहरा समुद्री बंदरगाह है. यहां से यूक्रेन स्‍टील, कोयला और मक्‍के को खाड़ी देशों को निर्यात करता था. मारियुपोल पर कब्‍जे के बाद अब पुतिन इसे अपनी जनता को जीत के रूप में दिखा सकेंगे, क्योंकि रूसी जनता का एक हिस्सा भी यूक्रेन जंग का विरोध कर रहा है. इसीलिए पुतिन ने इसे ‘मुक्ति’ नाम दिया है.

रूस ने इन शहरों पर किया कब्जा
मारियुपोल से पहले रूसी सेना ने पूर्वी यूक्रेन के क्रेमिन्ना शहर पर कब्जा कर लिया था. यहां से यूक्रेनी सैनिक पीछे हट गए हैं. रॉयटर्स के मुताबिक क्षेत्रीय गवर्नर ने मंगलवार को यह जानकारी दी. पूर्वी यूक्रेन में रूस द्वारा नया आक्रमण शुरू करने के बाद से क्रेमिन्ना, जिसकी रूस के साथ युद्ध से पहले 18,000 से अधिक की आबादी थी, ऐसा पहला शहर बन गया है जिस पर रूसी सेना के कब्जे की पुष्टि हुई है. वहीं, सोमवार को रूस ने खेसॉन सिटी पर भी कब्जे का दावा किया है.

Tags: India russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here