यूक्रेन की मदद करके अब डर रहा पोलैंड, दक्षिण कोरिया से मांगे ये हथियार


सोल/वॉरसा. यूक्रेन की जंग में राष्‍ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्‍की की खुलकर मदद करने वाले पोलैंड को अब रूस के हमले का डर सताने लगा है. पोलैंड ने यूक्रेन को बड़े पैमाने पर हथियारों की सप्लाई की है. ऐसे में उसके पास हथियारों का जखीरा खाली हो गया है. इसलिए पोलैंड अब दक्षिण कोरिया से 1000 टैंक, 600 K9 तोपें और दर्जनों फाइटर जेट खरीदने (Poland-South Korea Deal) जा रहा है. पोलैंड के रक्षा मंत्रालय ने हथियारों को खरीदने की अपनी योजना का ऐलान किया है. यह वही तोप है जिसे भारतीय सेना (Indian Army) भी इस्‍तेमाल करती है.

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, रक्षा मंत्रालय ने कहा कि इस डील के तहत पोलैंड दक्षिण कोरिया से 980 के2 मॉडल टैंक, 648 अत्‍याधुनिक स्‍वाचालित K9 तोपें और 48 FA-50 फाइटर जेट खरीदने जा रहा है. अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि यह पूरी डील कितने अरब डॉलर की है. पोलैंड को इस साल के आखिर तक 180 के 2 टैंक कोरियाई कंपनी हुंडई रोटेम की ओर से बनाकर मुहैया कराई जाएगी. ये टैंक 120 एमएम के ऑटो लोडिंग गन से लैस होंगे.

रूस का लक्ष्य यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की की सरकार को उखाड़ फेंकना है: सर्गेई लावरोव

ये हथियार सोव‍ियत जमाने के टैंक की जगह लेंगे
इसके अलावा 800 अपग्रेड किए हुए टैंक साल 2026 से दक्षिण कोरिया में बनने शुरू होंगे. शुरू के 48 के9 तोप का निर्माण हानवहा डिफेंस की ओर से इस साल किया जाएगा, जो पोलैंड को इस साल तक मिल जाएगी. वहीं, 600 अतिरिक्‍त तोपों की सप्लाई साल 2024 से शुरू होगी. साल 2025 से इन तोपों का निर्माण पोलैंड में ही शुरू हो जाएगा. दक्षिण कोरियाई रक्षा मंत्रालय ने कहा कि ये हथियारबंद वाहन सोव‍ियत जमाने के टैंक की जगह लेंगे, जिसे पोलैंड ने अब यूक्रेन को रूस के खिलाफ जंग में दान कर दिया है.

रक्षा मंत्रालय का यह बयान ऐसे समय पर आया है, जब पोलैंड के रक्षा मंत्री ने 22 जुलाई को ट्वीट करके कहा था कि यह डील पोलैंड की सुरक्षा और सेना की ताकत को काफी हद तक बढ़ा देगी. दक्षिण कोरिया की सेना के रिटायर जनरल चून इन बम ने कहा कि पोलैंड के साथ दक्षिण कोरिया की यह डील एक बार में किया गया, अब तक का सबसे बड़ा निर्यात सौदा है.

उन्‍होंने दक्षिण कोरिया के इन हथियारों की जमकर प्रशंसा की. जनरल चून ने कहा कि दक्षिण कोरिया की K9 तोप संभवत: दुनिया का सबसे अच्‍छा आर्टिलरी सिस्‍टम है. इसके टक्‍कर में केवल जर्मनी की तोप ही आती है.

दक्षिण कोरिया की K9 तोप की भारतीय सेना भी मुरीद
जनरल चून ने कहा कि एफए-50 विमान टी-50 का लड़ाकू वर्जन है जो दुनिया में सबसे अच्‍छा ट्रेनिंग देने वाला विमान माना जाता है। के2 टैंक का ताजा संस्‍करण अभी दक्षिण कोरिया में सबसे अच्‍छा हथियार है. दक्षिण कोरिया अपने हथियारों के निर्यात को लगातार बढ़ावा दे रहा है. अमेरिका और नाटो देश अब चाहेंगे कि साउथ कोरिया अपने हथियारों के निर्यात को बढ़ाए. दक्षिण कोरिया की के9 तोप की भारतीय सेना भी मुरीद है. चीन और पाकिस्‍तान से निपटने के लिए उसे सैकड़ों की तादाद में खरीद रही है. (एजेंसी इनपुट के साथ)

Tags: Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here