यूक्रेन को और घातक हथियार देंगे अमेरिका और NATO, पढ़ें जंग के 10 अपडेट


Russia-Ukraine War News Update: रूस और यूक्रेन जंग को गुरुवार को 64वां दिन है. हमले की वजह यूक्रेन की अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है. यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की का कहना है कि युद्ध की वजह से देश को 600 अरब डॉलर से ज्यादा का नुकसान हुआ है. सैकड़ों उद्योग तबाह हो चुके हैं. लगभग 2,500 किमी सड़कें और लगभग 300 पुल बर्बाद हो गए हैं.

यूक्रेन युद्ध के 63वें दिन भी रूस के साथ अमेरिका व पश्चिमी देशों का तनाव नहीं घटा. अमेरिका व सहयोगी देशों ने यूक्रेन को रूस के खिलाफ और घातक हथियार देने का फैसला करते हुए उसकी मदद के बदले एटमी युद्ध की रूसी चेतावनी को भी खारिज कर दिया है.

दूसरी तरफ पश्चिमी देशों की तरफ से लगाए गए प्रतिबंध से रूस से ऑइल प्रोडक्शन को भी बड़ा झटका लगा है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, रूसी बैंकों और जहाजों पर प्रतिबंधों की वजह से इस साल उसके ऑइल प्रोडक्शन में 17% तक गिरावट आएगी.

इसके साथ ही आइए जानते हैं रूस और यूक्रेन जंग के अब तक के 10 अपडेट…

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध के 63वें दिन बुधवार को रूस ने पोलैंड और बुल्गारिया को प्राकृतिक गैस की आपूर्ति बंद कर दी. रूस ने यह कदम दोनों देशों द्वारा प्राकृतिक गैस के लिए रूबल में भुगतान करने से इनकार करने के बाद उठाया. पोलैंड और बुल्गारिया के नेताओं ने रूस पर प्राकृतिक गैस के जरिये ‘ब्लैकमेल’ करने का आरोप लगाया है.

कनाडा के सांसदों ने यूक्रेन में रूस के हमले को नरसंहार के रूप में लेबल करने के लिए वोटिंग की. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका ने यूक्रेन के साथ खुफिया जानकारी साझा करने पर कुछ प्रतिबंध हटाए.

सुमी के गवर्नर का कहना है कि रूसी सेना ने बीते दिन आधे घंटे में शहर पर 50 से ज्यादा हमले किए. वहीं, यूक्रेन के जनरल स्टाफ का कहना है कि रूस भारी गोलाबारी के बावजूद पूर्व में यूक्रेनी डिफेंस को तोड़ने में नाकाम रहा.

अमेरिका की संसद में बुधवार को भारी बहुत से एक विधेयक पारित किया है. इस विधेयक में राष्ट्रपति बाइडन से रूसी अरबपतियों की संपत्ति जब्त कर यूक्रेन को अतिरिक्त सैन्य और मानवीय सहायता भेजने की अपील की गई है. हालांकि, यह कानून गैर-बाध्यकारी है.

पिछले हफ्ते बोरिस जॉनसन ने जल्द ही कीव में ब्रिटिश दूतावास फिर से शुरू करने की घोषणा की थी. इस तैयारी के बीच सोमवार को अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने भी अपनी यूक्रेन यात्रा के दौरान घोषणा की थी कि अमेरिकी राजनयिक भी एक सप्ताह के भीतर कीव लौट आएंगे.

जर्मनी के रैमस्टीन एयर बेस पर अमेरिका समेत 40 देशों के प्रतिनिधियों की बैठक में यूक्रेन को भारी हथियारों से लैस करने का फैसला किया गया है. यहीं अमेरिकी वायुसेना का यूरोपीय मुख्यालय भी है.

रूस की ओर से यूक्रेन पर लगातार दूसरे दिन हुए हमलों ने पड़ोसी मोल्दोवा में ट्रांस-डेनिएस्टर के अलगाववादी क्षेत्र को हिलाकर रख दिया. इससे यूक्रेन सीमा के करीब दो शक्तिशाली रेडियो एंटीना धराशायी हो गए. किसी ने भी हमलों की जिम्मेदारी नहीं ली, लेकिन यूक्रेन ने रूस को दोषी ठहराया.

स्वीडिश मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक स्वीडन और फिनलैंड नाटो की सदस्यता लेने के लिए संयुक्त रूप से आवेदन करने की तैयारी कर रहे हैं. दोनों देश 16 से 20 मई के बीच आवेदन कर सकते हैं. उसी दौरान फिनलैंड के राष्ट्रपति सौली निनिस्तो स्वीडन के आधिकारिक दौरे पर होंगे.

यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरस और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की आमने-सामने बैठक हुई. यूएन ने कहा, रूस मैरियूपोल शहर में इस्पात संयंत्र से लोगों को निकालने की व्यवस्था करने पर सहमत हुआ है.

दो माह से जारी रूस-यूक्रेन युद्ध में दोनों देशों के बीच इतनी ज्यादा दूरियां पैदा कर दी हैं कि यूक्रेनी नागरिक अब रूस से जुड़ी ऐतिहासिक चीजों को भी तोड़ रहे हैं. राजधानी कीव में मौजूद रूस और यूक्रेन की दोस्ती के प्रतीक सोवियत स्मारक को तोड़ दिया गया है.

Tags: India russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here