यूक्रेन को पटखनी देंगे रूस के 3 लाख नए सैनिक! तीन हफ्तों में पुतिन की नई फौज तैयार


हाइलाइट्स

रूस ने रोकी यूक्रेन के खिलाफ शुरू की गई लामबंदी की प्रक्रिया
पुतिन के सामने आंशिक लामबंदी की रिपोर्ट 1 नवंबर को होगी पेश
यूक्रेन के खिलाफ उतारे जायेंगे रूस के नए सैनिक

मास्को. यूक्रेन-रूस युद्ध के बीच चल रही रूसी सेना की लामबंदी प्रक्रिया को फिलहाल रोक दिया गया है. रूस की सरकारी न्यूज़ एजेंसी TASS की एक रिपोर्ट के मुताबिक करीब तीन लाख सैनिकों के लिए चल रही भर्ती प्रक्रिया को देश के रक्षा मंत्रालय ने रोक दिया है. TASS ने रूसी रक्षा मंत्रालय के हवाले से सोमवार को कहा कि सभी आंशिक सैन्य लामबंदी गतिविधियों और लोगों को कॉल अप लेटर सौंपने की प्रक्रिया पर रोक लगा दी गई है. वहीं लामबंदी पर रूस के रक्षा मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा कि सैन्य भर्ती कार्यालयों और क्षेत्रीय सरकारों द्वारा सैन्य सेवा के लिए सैनिकों की भर्ती से संबंधित सभी गतिविधियों को रोक दिया गया है. माना जा रहा है कि रूस इन सैनिकों को यूक्रेन युद्ध में तैनात करेगा.

तीन लाख सैनिकों की गई भर्ती
बीते दिनों रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने जानकारी दी थी कि आंशिक लामबंदी के आदेश के दो हफ्तों के भीतर ही 2 लाख से अधिक जवान सेना में भर्ती कर लिए गए हैं. अब मंत्रालय की ओर से लगाई गई रोक के बाद TASS ने बताया कि तीन लाख सैनिकों की भर्ती को पूर्ण किया गया है. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पुतिन के सामने आंशिक लामबंदी की रिपोर्ट 1 नवंबर को प्रस्तुत की जाएगी. हालांकि रूस ने अभी तक सैनिकों के यूक्रेन युद्ध में भेजे जाने की बातों को पुष्ट नहीं किया है.

लामबंदी से बचने के लिए देश छोड़ रहे थे युवा
सेना की ओर से बिना सैन्य अनुभव वाले युवाओं को भी कॉल लेटर जाने की खबरों के बाद बड़ी संख्या में लोग देश छोड़ कर जा चुके हैं. स्पेन स्थित फॉरवर्डकीज के फ्लाइट टिकटिंग डेटा के अनुसार, रूस से जारी एकतरफा उड़ान टिकटों की संख्या में 27% की वृद्धि दर्ज की गई थी. 21 सितंबर से 27 सितंबर तक की बुकिंग की तुलना करने पर कंपनी ने पाया कि जारी किए गए एकतरफा टिकटों की हिस्सेदारी पिछले सप्ताह 47% की तुलना में बढ़कर 73% हो गई है. कंपनी ने कहा कि देश में डिपार्चर का औसत समय 34 से घटकर 22 दिन हो गया है.

Tags: Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here