यूक्रेन जंग में 5.16 करोड़ से अधिक लोग आ गए गरीबी रेखा के नीचे, पढ़ें 10 अपडेट


Russia-Ukraine War News Update: रूस-यूक्रेन युद्ध के 135 दिन हो रहे हैं. रूसी सेना ने गुरुवार को खार्कीव शहर पर लंबी दूरी की गोलाबारी तेज कर दी है. यूक्रेन में विद्रोहियों के दावे वाले प्रांत दोनेस्क में पिछले 24 घंटे से जारी गोलाबारी के कारण 8 लोग मारे गए, जबकि 25 अन्य घायल हो गए हैं. दूसरी तरफ, रूस समर्थक अलगाववादियों ने कहा कि यूक्रेनी सेना के हमले में उनके चार नागरिक भी मारे गए हैं. खार्कीव में रूसी सेना बहुत तेजी से प्रहार कर रही है.

यहां से यूक्रेनी सैनिकों ने युद्ध के शुरुआती चरण में मॉस्को के बख्तरबंद बलों को पीछे धकेल दिया था. माना जा रहा है कि रूसी सैनिक आगामी सप्ताहों में दोनेस्क के क्रामातोर्स्क शहर पर कब्जा कर सकते हैं. पिछले कुछ दिनों में शहर से अधिकांश नागरिक बाहर आ गए हैं. उधर, रूसी रक्षा मंत्रालय ने दावा किया कि उसने दो अमेरिका निर्मित उन्नत रॉकेट सिस्टम और दोनेस्क में उनके गोला-बारूद का डिपो नष्ट कर दिया है. हालांकि, यूक्रेन ने इससे इनकार किया है.

इसके साथ ही पढ़ें रूस और यूक्रेन जंग के बड़े अपडेट्स…

4 महीनों से ज्यादा समय से जारी जंग में राष्ट्रपति पुतिन के बयानों से रूस की मंशा साफ नजर आती है. अब रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने पश्चिमी देशों को सीधे जंग में शामिल होने का चैलेंज दे दिया है. पुतिन ने कहा- अगर पश्चिमी देश यूक्रेन का साथ देना चाहते है तो हमारे खिलाफ जंग में शामिल हो जाएं.

पुतिन यूक्रेन के खिलाफ 24 फरवरी से जारी हमले को मिलिट्री ऑपरेशन बताते रहे हैं. उन्होंने कहा- अभी तो आक्रमण शुरू भी नहीं हुआ है. पश्चिमी देशों से नाराजगी जाहिर करते हुए पुतिन ने कहा- रूस पर लगाए गए प्रतिबंधों की वजह से यूक्रेन के साथ शांति पर बातचीत करना कठिन होता जा रहा है.

इधर, रूसी सेना ने खार्किव और डोनबास के कई इलाकों में एयर स्ट्राइक की. इस हमले में 3 लोग मारे गए और 5 लोग घायल हो गए.

पुतिन ने यूक्रेन के लोगों के लिए संवेदना भी दिखाई. पुतिन ने कहा- पश्चिमी देश खुद लड़ाई में शामिल न होकर, यूक्रेन के लोगों को लड़ने के लिए आगे कर रहे हैं.​​​​​​ उन्होंने यूक्रेन के खिलाफ जंग में शांति कायम करने की ओर इशारा भी किया.

खार्किव में की गई एयर स्ट्राइक में रूस ने मल्टीपल रॉकेट लॉन्चर सिस्टम का इस्तेमाल किया था. खार्किव के गवर्नर ने बताया कि हमारे पास जानमाल के नुकसान की शुरुआती जानकारी ही है. हालांकि, नुकसान इससे ज्यादा हुआ है. रूसी हमले में कई घरों और जरूरी इंफ्रास्ट्रचर को नुकसान पहुंचा है.

यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने मुश्किल समय में साथ देने के लिए ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को शुक्रिया कहा है. वहीं, रूस में क्रैमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने कहा- जॉनसन ने न ही रूस को पसंद किया है और न ही रूस ने उनको पसंद किया.

यूनाइटेड नेशंन्स (UN) की लेटेस्ट रिपोर्ट के मुताबिक, 24 फरवरी से अब तक अब तक 90 लाख से ज्यादा यूक्रेनी बेघर हो चुके हैं.

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) ने एक रिपोर्ट में कहा, यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद खाद्य पदार्थों और ऊर्जा की कीमतों में भारी वृद्धि के कारण दुनिया में 7.1 करोड़ से अधिक लोग गरीबी रेखा के नीचे चले गए हैं.

यूएनडीपी का अनुमान है कि युद्ध शुरू होने के बाद पहले तीन महीनों में 5.16 करोड़ से अधिक लोग गरीबी रेखा के नीचे आ गए और वे प्रति दिन 1.90 डॉलर या उससे भी कम पैसे में जीवन यापन कर रहे हैं. इसके साथ ही विश्व की कुल आबादी का करीब नौ फीसदी हिस्सा गरीबी रेखा के नीचे हो गया. करीब दो करोड़ लोग रोजाना 3.20 डॉलर से कम पैसे में जीवन गुजार रहे हैं.

पश्चिमी देशों द्वारा रूस के खिलाफ प्रतिबंध लगाए जाने से ईंधन और मुख्य खाद्य पदार्थों जैसे गेहूं, चीनी और खाना पकाने के काम आने वाले तेल की कीमतें बढ़ गईं हैं. यूक्रेनी बंदरगाहों के अवरुद्ध होने और कम आय वाले देशों को अनाज निर्यात नहीं कर पाने के कारण कीमतों में और वृद्धि हुई.

Tags: Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here