रूस का एक और बड़ा कदम, यूक्रेन की सैन्य इकाई अजोव रेजिमेंट को आंतकवादी समूह घोषित किया


हाइलाइट्स

रूस के उच्चतम न्यायालय ने अजोव रेजिमेंट को आतंकवादी समूह घोषित किया है
अजोव रेजिमेंट यूक्रेनी सेना की मदद करता है
अजोव रेजिमेंट दक्षिणापंथ कट्टर राष्ट्रभक्त सैन्य इकाई है

मास्को. रूस के उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को यूक्रेन के अजोव रेजिमेंट को देश में प्रतिबंधित आतंकवादी समूह घोषित कर दिया है. न्यायालय की इस घोषणा से रूस अब युद्धबंदी के तौर पर गिरफ्तार यूक्रेन के कैदियों पर आतंकवाद का मुकदमा चला सकता है. अजोव रेजिमेंट ने दक्षिण यूक्रेन के मारियुपोल शहर में रूस के साथ हुई लड़ाई में अहम भूमिका निभाई थी. रूसी अधिकारियों और सरकारी मीडिया द्वारा लगातार रेजिमेंट पर नाजियों की रणनीति अपनाने और यूक्रेन के गैर सैनिकों पर अत्याचार कराने के आरोप लगाए जा रहे हैं. हालांकि, यूक्रेन की सेना की इस टुकड़ी को आतंकवादी समूह घोषित करने के समर्थन में सबूतों को सार्वजनिक नहीं किया गया है.

अजोव रेजिमेंट यूक्रेनी सेना की मदद करता है

यूक्रेन के नेशनल गार्ड में अजोव रेजिमेंट एक इकाई है. इसकी स्थापना कई स्वयंसेवक टुकड़ियों में से एक अजोव बटालियन से वर्ष 2014 में की गई थी. यह पूर्वी यूक्रेन में रूस समर्थक विद्रोहियों से लड़ रही यूक्रेन की अपेक्षकृत कम वित्तपोषित और सवालों में घिरी रही सेना की मदद करती है. रूस के महा अभियोजक कार्यालय ने अजोव को आतंकवादी समूह घोषित करने के लिए इस साल मई में प्रस्ताव पेश किया था. अजोव रेजिमेंट के कई लड़ाके इस समय मास्कों के बंधक हैं. रूसी अधिकारियों ने उनके खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज किए है जिनमें आम नागरिकों की हत्या का मामला शामिल है.

अजोव पर नाजीवाद का आरोप

गौरतलब है कि 20 फरवरी 2022 को रूस ने यूक्रेन पर स्पेशल मिलिट्री ऑपरेशन की घोषणा की थी. तब से यूक्रेन युद्ध लगातार चल रहा है. यूक्रेन के कई शहरों पर अब भी रूस की ओर से भारी बमबारी की जा रही है. खारकीव, मारियुपोल, ओडिशा सहित कई शहरों पर रूस का लगभग नियंत्रण हो चुका है. अजोव रेजिमेंट बेहद कट्टर दक्षिणापंथ माना जाता है. रूसी अदालत ने कहा कि अजोव नव-नाजीवाद और व्हाइट वर्चस्व विचारधारा को पैदा कर रहा है जो आतंकवाद के समान है. हालांकि अजो नाजी विचारधारा से खुद को अलग करता है. हालांकि लेकिन स्वस्तिक और एसएस रेगलिया जैसे नाजी प्रतीक इसके सदस्यों की वर्दी और शरीर पर व्याप्त हैं.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : August 02, 2022, 23:59 IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here