रूस के बाद अब अमेरिका ने भी खुलकर की पीएम मोदी की तारीफ, भारत को बताया सुप्रीम


अमेरिका की ट्रेजरी सचिव जेनेट येलेन की फाइल फोटो- India TV Hindi News

Image Source : AP
अमेरिका की ट्रेजरी सचिव जेनेट येलेन की फाइल फोटो

US Treasury Secretary Janet Yellen in India:दुनिया भर में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जलवा बढ़ता ही जा रहा है। विश्व के सभी देशों को पीएम मोदी ने कायल बना दिया है। आखिर कुछ तो ऐसी बात है पीएम मोदी में जिससे कि विश्व के बड़े-बड़े देश उनकी तारीफ करते नहीं थक रहे। महज आठ वर्षों में पीएम मोदी ने भारत को किन बुलंदियों पर पहुंचा दिया है, इसका एहसास अपने देश के विपक्ष और कुछ लोगों को भले न हो, लेकिन दुनिया के सारे देश उनके जादू का अनुभव कर रहे हैं। भारत जिस तरह से इन विपरीत परिस्थितयों में अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूती से संभालते हुए दुनिया को लीड कर रहा है और पूरा विश्व उसकी तारीफ कर रहा है। ऐसे में साफ है कि पीएम मोदी को पूरी दुनिया अब ग्लोबल लीडर मान चुकी है। पूरा विश्व यह मान चुका है कि दुनिया भर के देशों को सिर्फ यही करिश्माई व्यक्तित्व एक नई दिशा दे सकता है।

पीएम मोदी के करिश्मे और उनके प्रभावशाली नेतृत्व में भारत के बढ़ते कदम के चलते ही आज पूरी दुनिया सलाम ठोंक रही है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के बाद अब अमेरिका ने भी खुलकर पीएम मोदी और भारत की तारीफ की है। भारत दौरे पर आई अमेरिका की ट्रेजरी सचिव जेनेट येलेन ने कहा कि रूस-यूक्रेन युद्ध मामले में पीएम मोदी ने पुतिन से बिल्कुल सही कहा था कि “यह युग युद्ध का नहीं है” ….इस वजह से यूक्रेन में लाखों लोग गरीबी और भुखमरी का सामना करने कर रहे हैं। दुनिया के अन्य कई देशों में भी भारी खाद्य और ऊर्जा संकट पैदा हुआ है। इसलिए पीएम मोदी वहां बिल्कुल सही थे। सिर्फ लोकतंत्र ही लोगों का उद्धार कर सकता है। येलेन ने कहा कि कठिन समय हमारी परीक्षा लेता है, लेकिन मेरा मानना ​​​​है कि चुनौतियां भारत और अमेरिका को पहले से कहीं ज्यादा करीब ला रही हैं।

भारत दुनिया की सबसे तेज अर्थव्यवस्था


जेनेट येलेन ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत लगातार ऊंचाइयां छू रहा है। उन्होंने कहा कि अब भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। इसमें किसी को भी आश्चर्य नहीं होना चाहिए। येलेन ने कहाकि हम महामारी के प्रभाव से निपट रहे हैं। मगर यूक्रेन में पुतिन के बर्बर युद्ध से सभी देशों की अर्थव्यवस्था गिर रही है और व्यापक आर्थिक तंगी आ रही है। येलेन ने कहा कि ट्रेजरी सचिव के रूप में यह भारत की मेरी पहली यात्रा है, मुझे यहां आकर खुशी हो रही है, क्योंकि भारत अपनी आजादी के 75वें वर्ष का जश्न मना रहा है और जी20 का अध्यक्ष बनने की तैयारी कर रहा है। राष्ट्रपति जो बाइडन ने भी भारत को अमेरिका के अपरिहार्य भागीदारों में से एक कहा है।

ग्लोबल अर्थव्यवस्था को भारत और अमेरिका देंगे आकार

येलेन ने कहा कि युद्ध की वजह से सभी देशों की अर्थव्यवस्था तंगी हालत में है, लेकिन भारत और अमेरिका द्वारा एक साथ कार्य किए जाने से वैश्विक अर्थव्यवस्था के प्रक्षेप पथ आकार लेंगे। उन्होंने हिंद-प्रशांत क्षेत्र की समृद्धि और सुरक्षा के लिए भी इस साझेदारी को सच बताया। येलेन ने कहा कि यूएस-भारत संबंध लगातार बढ़ रहे हैं। अमेरिका और भारत के बीच द्विपक्षीय व्यापार पिछले साल सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया और हम उम्मीद करते हैं कि यह और बढ़ेगा। हमारे लोग और कंपनियां दैनिक आधार पर एक दूसरे पर निर्भर हैं। संवाद करने के लिए भारतीय अक्सर व्हाट्सएप का इस्तेमाल करते हैं, कई अमेरिकी कंपनियां संचालित करने के लिए इंफोसिस पर भरोसा करती हैं।

भारत की हरित हाइड्रोजन योजना को सराहा

अमेरिका ने भारत में हरित हाइड्रोजन और सौर ऊर्जा जैसी अन्य नवीकरणीय प्रौद्योगिकियों के क्षेत्रों में एक बिजलीघर बनने की महत्वाकांक्षा की भी सराहना की। येलेन ने कहाकि अमेरिका और भारत हमारी आपूर्ति श्रृंखला को मजबूत करने में रुचि रखते हैं,वह भी एक ऐसी दुनिया में जहां कुछ सरकारें एक भू-राजनीतिक हथियार के रूप में व्यापार करती हैं। इस दौरान यूएस ट्रेजरी सेक्रेटरी जेनेट येलेन ने नोएडा में माइक्रोसॉफ्ट इंडिया डेवलपमेंट सेंटर में बिजनेस लीडर्स से मुलाकात भी की।

गहरे हो रहे हैं भारत-अमेरिका के रिश्ते

येलेन ने कहा कि मैं यहां अपनी समकक्ष वित्तमंत्री सीतारमण से मिलने आई हूं। भारत-अमेरिका के आर्थिक संबंध समय के साथ मजबूत और गहरे होते जा रहे हैं। आपूर्ति श्रृंखला पर चिंताओं के साथ, हमें मिलकर काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि “भारत के साथ अमेरिका के संबंध मजबूत हैं। इन्हीं महत्वपूर्ण आर्थिक संबंधों और साझा मूल्यों के माध्यम से व्यापार भी गहरा हो रहा है।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here