‘रूस को धमकी देने से पहले 2 बार सोचना होगा’ : पुतिन करेंगे बेहद डरावनी ‘सतन-2’ मिसाइल की तैनाती


लंदन: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने घोषणा की है कि उनके शासन की नवीनतम परमाणु-सक्षम मिसाइल ‘सतन-2’ इस शरद ऋतु की शुरुआत में तैनात की जाएगी. उन्होंने कहा कि यह ‘रूस को धमकी देने की कोशिश करने वालों को दो बार सोचने के लिए मजबूर करेगा.’ डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, सरमत मिसाइल या ‘सतन-2’ को दुनिया की सबसे लंबी दूरी की अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल कहा जाता है, जो 11,200 मील दूर लक्ष्य को भेदने में सक्षम है.

पुतिन ने मिसाइल के विकास की सराहना की, जिसका इस सप्ताह की शुरुआत में सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया था. उन्होंने इसे रूस के रक्षा उद्योग के लिए ‘एक बड़ी, महत्वपूर्ण घटना’ बताया और कहा कि सरमत ‘बाहरी खतरों से रूस की सुरक्षा सुनिश्चित करेगा और उन लोगों को, जो आक्रामक बयानबाजी से हमारे देश को धमकी देने की कोशिश करते हैं, दो बार सोचेंगे.’ उन्होंने घोषणा की, “मिसाइल सभी आधुनिक मिसाइल-रोधी रक्षा प्रणालियों को तोड़ सकती है.”

डेली मेल ने बताया, “दुनिया में कहीं भी ऐसा कुछ नहीं है और यह लंबे समय तक नहीं रहेगा.” पश्चिमी सैन्य विशेषज्ञों का कहना है कि सरमत 10 या उससे अधिक परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम है और एक ही हमले में ब्रिटेन या फ्रांस के आकार के क्षेत्रों का सफाया करने के लिए आसानी से पर्याप्त है.

हालांकि, विश्लेषकों का मानना है कि रोस्कोस्मोस अंतरिक्ष एजेंसी के प्रमुख पुतिन और दिमित्री रोगोजिन द्वारा प्रकट शरद ऋतु लक्ष्य महत्वाकांक्षी है, क्योंकि मॉस्को ने बुधवार को ही अपने पहले परीक्षण-लॉन्च की सूचना दी थी और कहा था कि इस मिसाइल को तैनात करने से पहले और अधिक परीक्षणों की जरूरत होगी.

वित्त पोषण और तकनीकी मुद्दों के कारण वर्षो की देरी के बाद इस सप्ताह का परीक्षण, रूस द्वारा उस समय ताकत का प्रदर्शन करता है, जब यूक्रेन में युद्ध ने अमेरिका और उसके सहयोगियों के साथ तनाव को 1962 के क्यूबा मिसाइल संकट के बाद से अपने उच्चतम स्तर पर पहुंचा दिया है.

Tags: Russia, Ukraine, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here