रूस ने यूक्रेन के लीमान शहर को कब्जे मे लिया, पूर्वी यूक्रेन में लड़ाई का दायरा बढ़ाने की योजना में मॉस्को


क्रामातोर्स्क: संपूर्ण पूर्वी यूक्रेन (UKraine) पर कब्जा करने के अपने लक्ष्य की ओर बढ़ने के रूसी दावे के बीच राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने यूरोपीय देशों द्वारा पाबंदियां लगाकर तथा यूक्रेन को हथियारों की आपूर्ति कर उनके देश को दंडित करने के संकल्प को शनिवार को डिगाने का प्रयास किया.

रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि रूसी सैनिकों एवं क्रेमलिन समर्थित अलगाववादियों के संयुक्त दल ने दूसरे छोटे शहर लीमान को ‘‘पूरी तरह’’ से मुक्त करा लिया है. इन अलगाववादियों ने रूस से सटे औद्योगिक क्षेत्र डोनबास में आठ साल पहले लड़ाई शुरू की थी.

इस बीच, यूक्रेन की रेल प्रणाली ने पूर्व में स्थित एक अहम रेल केंद्र लीमान में हथियार पहुंचाए हैं और वहां से लोगों को निकाला है. लीमान पर कब्जे का मतलब है कि रूसी सेना को इस क्षेत्र में एक और बड़ी कामयाबी मिलेगी. इस क्षेत्र में सैनिकों के लिए सिवरस्की डोनेत्स नदी को पार करने और उन्हें सैन्य साजोसामान पहुंचाने की खातिर कई पुल मौजूद हैं. यह नदी ही रूसी सेना के लिए डोनबास में आगे बढ़ने में अब तक अड़चन बनी हुई है.

यूक्रेन के अधिकारियों की लीमान पर मिश्रित प्रतिक्रियाएं थीं. शुक्रवार को डोनेत्स्क के गवर्नर पावलो कीरीलेंको ने कहा कि रूसी सैनिकों ने उसके ज्यादातर हिस्सों पर कब्जा कर लिया है और वे अब इस क्षेत्र के अन्य शहर बाखमूट की ओर बढ़ने की कोशिश में हैं.

यूक्रेन ने रूस के दावे का किया खंडन
हालांकि, शनिवार को यूक्रेन के उप रक्षा मंत्री हन्ना मायला ने रूस के इस दावे का खंडन किया कि लीमान उसके कब्जे में आ गया है. उन्होंने कहा कि लड़ाई अभी भी चल रही है.

शनिवार को एक वीडियो संबोधन में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने पूर्वी क्षेत्र की स्थिति को ‘बहुत जटिल’ करार दिया. उन्होंने कहा कि रूसी सेना वहां अपने प्रयास तेज कर कुछ न कुछ परिणाम हासिल करने में जुटी है.

इस बीच, क्रेमलिन ने कहा कि पुतिन ने शनिवार को फ्रांस और जर्मनी के नेताओं के साथ फोन पर 80 मिनट तक बातचीत की और उन्हें यूक्रेन को लगातार हाथियार देने के खिलाफ चेताया.

Tags: Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here