रूस यूक्रेन युद्ध: यूक्रेन के परमाणु संयंत्रों पर रूस का कब्‍जा, संयुक्‍त राष्‍ट्र ने जताई चिंता


कीव. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) परमाणु निगरानी संस्था के प्रमुख राफेल ग्रॉसी ने रूस यूक्रेन युद्ध ( Russia Ukraine War)  के बीच गुरुवार को यूक्रेन (Ukraine)  में स्थित यूरोप के सबसे बड़े परमाणु संयंत्र तक नहीं पहुंच पाने को लेकर ‘चिंता’ व्यक्त की. रूस ने इसे लगभग दो महीने पहले जब्त कर लिया था. रूसी सेना ने 4 मार्च को दक्षिणी यूक्रेन में ज़ापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर कब्जा कर लिया था. रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन के अपने आक्रमण की शुरुआत में अब-निष्क्रिय चेरनोबिल संयंत्र को भी जब्त कर लिया था, हालांकि वे वहां से पीछे हट गए हैं. अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA) के प्रमुख ग्रॉसी यूक्रेनी और रूसी दोनों अधिकारियों के साथ बातचीत कर रहे हैं.

राफेल ग्रॉसी हाल ही में सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए चेरनोबिल की यात्रा से लौटे हैं. ग्रॉसी ने संवाददाताओं से कहा कि जब यूक्रेन में परमाणु सुविधाओं की स्थिति की बात आती है तो ज़ापोरिज्जिया मेरी चिंताओं की सूची में सबसे ऊपर है. उन्होंने कहा कि वहां बहुत कुछ किया जाना है… हमें ज़ापोरिज्जिया वापस जाने की जरूरत है. यह बेहद महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि उनकी एजेंसी अभी भी उन रिपोर्टों की जांच कर रही है कि मिसाइलों ने ज़ापोरिज्जिया के ऊपर से उड़ान भरी थी, अगर पुष्टि हुई तो यह “बेहद गंभीर” होगा.

ग्रॉसी ने कहा कि चेरनोबिल में आईएईए ने अपनी यात्रा के दौरान विकिरण के ‘स्तर में वृद्धि’ दर्ज की थी, जब रूसी सेना भारी वाहनों के साथ चली गई और संयंत्र के चारों ओर खाई खोद दी गई है. उन्होंने कहा कि लेकिन स्थिति ऐसी नहीं है जिसे पर्यावरण और लोगों के लिए एक बड़ा खतरा माना जा सकता है. यूक्रेन में चार परिचालन संयंत्रों में 15 रिएक्टर हैं, साथ ही चेरनोबिल जैसे अपशिष्ट भंडार भी हैं.

Tags: Russia, Russia ukraine war, United nations



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here