वैज्ञानिकों ने खोजा अब तक सबसे तेजी से घूमने वाला सितारा, 8000 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ब्लैक होल के चारों तरफ लगा रहा चक्कर


Fastest Moving Star- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER
Fastest Moving Star

Highlights

  • तेजी से घूमने वाले सितारे का नाम S4716
  • ब्लैक होल के चारों तरफ तेज गति से लगा रहा चक्कर
  • 8 हजार किलोमीटर प्रति सेकेंड है सितारे की रफ्तार

Fastest Moving Star: अंतरिक्ष की दुनिया को लेकर दुनियाभर के वैज्ञानिक आए दिन नई खोज कर रहे हैं। इसी तरह की खोज अब एक सितारे को लेकर हुई है, जिसे अब तक का सबसे अधिक तेजी से घूमने वाला सितारा बताया जा रहा है। ये खोज चेक गणराज्य की कोलोन यूनिवर्सिटी ने की है। ये सितारा ब्लैक होल के आसपास रिकॉर्ड गति से यात्रा कर रहा है। इसका नाम S4716 रखा गया है। जो हमारी गैलेक्सी के बीच में मौजूद ब्लैक होल सैगिटेरियस-ए की परिक्रमा कर रहा है। सितारे की गति 8 हजार किलोमीटर प्रति सेकेंड है।

S4716 सितारा ब्लैक होल के चारों तरफ जितनी तेजी से घूम रहा है, वह पृथ्वी से सूर्य तक की यात्रा के 100 गुना के बराबर है। ये सुनने में बेहद ही लंबी दूरी लग रही है। लेकिन एस्ट्रोनॉमिकल मानकों में इसे काफी छोटी दूरी माना गया है। ये अध्ययन एस्ट्रोफिजिकल जरनल में प्रकाशित किया गया है। हमारी गैलेक्सी में ब्लैक होल के केंद्र में सितारों की बड़ी आबादी है। सितारों की अधिकतरा को क्लस्टर कहा जाता है। वहीं इस क्लस्टर का नाम क्लस्टर-एस रखा गया है।  यहां 100 से अधिक सितारे हैं, जिनका आकार और चमक अलग-अलग है।

क्लस्टर में तेजी से घूमते हैं सितारे

इस क्लस्टर में मौजूद सितारे काफी तेजी से घूमते हैं। अध्ययन के प्रमुख लेखक डॉक्टर फ्लोरियन पीसकर ने कहा, इस क्लस्टर की वजह से, हम अकसर अपनी गैलेक्सी के केंद्र में मौजूद ब्लैक होल को नहीं देख पाते हैं। उन्होंने बताया कुछ समय बाद गैलेक्सी का केंद्र दिखने लगा था। इसका 20 साल तक निरीक्षण किया गया है। विश्लेषण करने के बाद वैज्ञानिकों ने सबसे तेज गति से घूमने वाले सितारे का पता लगाया है। ये सितारा ब्लैक होल के चारों तरफ चक्कर लगा रहा था। यह इतना तेज है कि चार साल में हमारी गैलेक्सी के केंद्र में बने ब्लैक होल की परिक्रमा करता है। इस सितारे को कुल पांच दूरबीनों से देखा गया है। इनमें से चार को एक बड़े टेलीस्कोप के साथ जोड़ा गया था।


 

हैरान रह गए थे शोधकर्ता

इसके अलावा यह खोज गैलेक्सी के बीच में तेजी से घूमने वाले सितारों की कक्षाओं की उत्पत्ति और विकास पर नई रोशनी डालती है। अध्ययन में शामिल प्रोफेसर माइकल जोजसेक ने कहा, S4716 की कॉम्पैक्ट कक्षा शोधकर्ताओं के लिए आश्चर्य की बात है। उन्होंने आगे कहा, ‘ब्लैक होल के पास सितारे इतनी आसानी से नहीं बनते हैं।’ यही वजह है कि इस तेजी से घूमने वाले सितारे के मिलने से शोधकर्ता भी हैरान हैं।  

यूरेनस ग्रह की खोज चाहते हैं वैज्ञानिक

इसके अलावा अंतरिक्ष की दुनिया की एक अन्य खबर ये है कि अभी तक सोलर सिस्टम के मंगल और शनि ग्रह से जुड़ी खोज कर रहे शोधकर्ता अब यूरेनियस ग्रह में दिलचस्पी दिखा रहे हैं। इसे लेकर अमेरिकी नेशनल अकैडमी ऑफ साइंसेज ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की है। जिसमें उसने अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा से कहा है कि यूरेनस ग्रह की खोज शुरू की जाए। इसमें कहा गया है कि अगले दशक के लिए यूरेनस ग्रह को प्रमुख कार्यक्रम घोषित किया जाए। यह अकैडमी हर 10 साल में ग्रहों की खोज से जुड़ी अमेरिका की प्राथमिकताओं को लेकर रिपोर्ट प्रकाशित करती है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here