शिंजो आबे की फैमिली में कौन-कौन है? कितनी है उनकी नेटवर्थ? जानें यहां


टोक्यो. जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे को गोली मारे जाने के बाद उनकी मौत हो गई है. आबे को नारा क्षेत्र में एक चुनाव कार्यक्रम के दौरान गोली मारी गई. शिंजो आबे रविवार को होने वाले अपर हाउस चुनाव से पहले एक कार्यक्रम में भाषण दे रहे थे. तभी हमलावर ने हैंडगन से गोली चला दी. आइए जानते हैं शिंजो आबे के परिवार और राजनीतिक जीवन के बारे में…

शिंजो आबे, एक प्रभावशाली राजनीतिक परिवार से ताल्‍लुक रखते हैं. आबे के दादा कैना आबे और पिता सिंतारो आबे, जापान के काफी लोकप्रिय राजनेताओं में थे. वहीं, उनकी मां जापान के पूर्व प्रधानमंत्री नोबोशुके किशी की बेटी थीं. किशी 1957 से 1960 तक जापान के प्रधानमंत्री थे.

Shinzo Abe LIVE: जापान के पूर्व PM शिंजो आबे को सीने में मारी गई 2 गोली, नहीं कर रहे रिस्पॉन्ड

टोक्यो में जन्म और नेओसाका में पढ़ाई
21 सितंबर 1954 को टोक्‍यो में जन्‍मे आबे देश के प्रभावशाली परिवार से ताल्‍लुक रखते हैं. आबे नेओसाका में अपनी स्‍कूली पढ़ाई पूरी की थी. यहां की साइकेई यूनिवर्सिटी से राजनीति शास्‍त्र में ग्रेजुएशन किया और फिर आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका चले गए. अमेरिका की सदर्न कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से उन्‍होंने अपनी बाकी पढ़ाई पूरी की.

स्‍टील प्‍लांट में किया काम
अमेरिका से वापस आने के बाद अप्रैल 1979 में आबे ने कोबे स्‍टील प्‍लांट में काम करना शुरू किया. दो साल तक यहां रुकने के बाद उन्‍होंने 1982 में कंपनी छोड़ दी. नौकरी छोड़ने के साथ ही आबे ने देश की राजनीति में प्रवेश कर लिया. राजनेता बनने से पहले उन्‍होंने सरकार से जुड़े कई पदों पर अपनी जिम्‍मेदारियां निभाईं.

1993 में लड़ा पहला चुनाव
1993 में आबे के पिता की मौत हो गई. फिर आबे ने यामागुशी से चुनाव लड़ा. चुनाव में उन्‍हें जीत मिली. आबे को बाकी के चार उम्‍मीदवारों की तुलना में सबसे ज्‍यादा वोट मिले थे. यहीं से उनके राजनीतिक करियर की शुरुआत हो चुकी थी. वो दिन पर दिन लोकप्रियता हासिल करते जा रहे थे.

PHOTOS: शिंजो आबे को पीछे से बुलाया और सीने में मार दी गोली, गिरते ही आया कार्डिएक अरेस्ट

जापान के सबसे युवा पीएम
2006 में लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के आबे को प्रधानमंत्री चुना गया. वो 2007 तक देश के पीएम रहे. जिस समय वो पीएम बने उनकी उम्र सिर्फ 52 साल थी. उनके नाम दो रिकॉर्ड दर्ज हुए. आबे न सिर्फ युद्ध के बाद देश के सबसे युवा पीएम बने, बल्कि वह पहले ऐसे पीएम थे जिनका जन्‍म सेकेंड वर्ल्‍ड वॉर के बाद हुआ था. शिंजो आबे को नॉर्थ कोरिया के लिए उनके सख्‍त रवैये के लिए जाना जाता है. इसके अलावा वो देश के ऐसे प्रधानमंत्री रहे हैं जिसने सबसे लंबे समय तक इस पद को संभाला.

परिवार में कौन कौन?
शिंजो आबे की शादी 1987 में अकी मात्सुजाकी उर्फ ​​’अक्की’ आबे से हुई थी. दंपती के कोई बच्चे नहीं हैं.

कितनी है संपत्ति?
फोर्ब्स की रिपोर्ट के मुताबिक, शिंजो आबे की कुल नेटवर्थ $10 मिलियन है. उनके पास टोक्यो में कई मकान और जमीन हैं. विदेशों में भी कुछ प्रॉपर्टी है. जिनकी जानकारी नहीं मिल पाई है.

जापानी अर्थव्यवस्था को दिया नया रंग
आबे ने जापान की राजनीति के साथ ही वहां की अर्थव्‍यवस्‍था को भी एक नया रंग दिया. आबे की आर्थिक नीतियों ने एक नए शब्‍द ‘आबेनॉमिक्‍स’ को जन्‍म दिया. इसकी तर्ज पर ही भारत में पीएम नरेंद्र मोदी की आर्थिक नीतियों को ‘मोदीनॉमिक्‍स’ नाम दिया गया था. आबे ने मार्च 2007 में राइट विंग राजनेताओं के साथ मिलकर एक बिल का प्रस्‍ताव रखा था. इस बिल के तहत जापान के युवाओं में अपने देश और गृहनगर के लिए प्‍यार को बढ़ाने के लिए कई तरह की बातें थीं.

Tags: Japan, Shinzo Abe



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here