श्रीलंका आर्थिक संकटः इंधन की 3 खेप से लोगों में जगी आस, 8 जुलाई को पहली खेप


कोलंबो. श्रीलंका सरकार ने रविवार को उम्मीद जतायी कि देश में ईंधन की उपलब्धता में एक सप्ताह के भीतर सुधार होगा और इस महीने डीजल की तीन खेप सहित ईंधन की चार खेप आने की संभावना है. बिजली और ऊर्जा मंत्री कंचना विजेसेकरा ने कहा कि डीजल की खेप 8-9 जुलाई, 11-14 जुलाई और तीसरी खेप 15-17 जुलाई को श्रीलंका पहुंचेगी. उन्होंने कहा कि पेट्रोल की खेप 22-23 जुलाई को श्रीलंका पहुंच जाएगी.

ईंधन की कमी के कारण शिक्षा मंत्रालय ने अगले सप्ताह चार जुलाई से आठ जुलाई तक सभी सरकारी और राज्य द्वारा मान्यता प्राप्त निजी विद्यालयों के लिए अवकाश घोषित किया है. संसद के सत्र को भी चार दिनों के बजाय तीन दिन का कर दिया गया है.

मीलों तक पेट्रोल के लिए कतारें
पिछले हफ्ते से, सरकारी ईंधन कंपनी सिलोन पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (सीपीसी) ने निजी वाहनों को ईंधन जारी करना बंद कर दिया और केवल आवश्यक सेवाओं तक ही इसकी आपूर्ति की जा रही है. इंडियन ऑयल कंपनी (आईओसी) प्रबंधित लंका आईओसी ने सीमित आधार पर निजी ग्राहकों को ईंधन की आपूर्ति की जिससे एलआईओसी के 200 से अधिक स्टेशन के पास मीलों लंबी कतार लग गई. विजेसेकरा ने कहा कि सरकार ने पूर्वी जिले त्रिंकोमाली में एलआईओसी के भंडारण से ईंधन खरीदने की व्यवस्था की है.

भारत ने दी साढ़े तीन अरब डॉलर की मदद
श्रीलंका सरकार रूस से रियायती तेल खरीदने के विकल्प भी तलाश रही है. विदेशी मुद्रा भंडार में कमी आने के कारण अभूतपूर्व आर्थिक संकट के बीच द्वीपीय राष्ट्र ईंधन भंडार को फिर से भरने के लिए कई कदम उठा रहा है. पिछले सप्ताह लंबी अवधि तक ईंधन की आपूर्ति को लेकर समझौते के लिए विजेसेकरा कतर गए थे. भारत ने अब तक श्रीलंका को साढ़े तीन अरब डॉलर की मदद दी है.

Tags: India, Sri lanka



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here