सऊदी अरब में बांग्लादेशी शख्स ने कुछ ऐसा काम किया कि पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया


 Mecca Kabba- India TV Hindi
Image Source : PTI/FILE
 Mecca Kabba

Highlights

  • बांग्लादेश से हज करने मक्का शहर आया था शख्स
  • गिरफ्तारी के बाद बांग्लादेशी प्रशासन ने कराया रिहा
  • व्यक्ति को हज यात्रा पर भेजने वाले ट्रैवल एजेंसी को भेजा गया नोटिस

Saudi Arabia: सऊदी अरब का शहर मक्का मुस्लिम समाज के लिए बड़ा ही पवित्र शहर माना जाता है। यहां स्थित काबा तीर्थ और मस्जिद-अल-हरम में हज करने के लिए हर साल लाखों लोग आते हैं। इस वर्ष भी लाखों लोग हज के लिएय पहुंचे हैं। इन्हीं लाखों लोगों में से एक बांग्लादेशी शख्स भी वहां हज करने के लिए पहुंचा। लेकिन वहां पहुंचकर वह कुछ ऐसा करने लगा कि मजबूरन सऊदी पुलिस को उस व्यक्ति को गिरफ्तार करना पड़ा। आपको बता दें कि सऊदी अरब में बड़े ही सख्त कानून हैं। वहां छोटे से भी अपराध की कड़ी सजा दी जाती है। अपराध करने के बाद वहां विदेशी मेहमनों को भी नहीं छोड़ा जाता है। 

भीख मांगने के आरोप में शख्स गिरफ्तार

सऊदी अरब की पुलिस ने हज यात्रा करने के दौरान भीख मांगने के आरोप में बांग्लादेशी शख्स को गिरफ्तार कर लिया। आपको बता दें कि सऊदी अरब में भीख मांगना गैरकानूनी है। इसके बाद भी वह व्यक्ति भीख मांग रहा था। खबरों के अनुसार, गिरफ्तार किया गया मोहम्मद मोतियार रहमान नामक शख्स बांग्लादेश के खुल्ना प्रांत के मेहरपुर जिले के रहने वाले था। उसे 22 जून को मदीना से गिरफ्तार किया गया था, हालांकि बाद में बांग्लादेश हज मिशन ने बॉन्ड साइन कर आरोपी शख्स को रिहा करा लिया।

बैग चोरी होने के बहाने से मांग रहा था भीख 

बांग्लादेश न्यूज 24 की रिपोर्ट के अनुसार, गिरफ्तार किया गया मोहम्मद मोतियार रहमान धनशिरी ट्रैवल एयर ट्रैवल्स लिमिटेड  के जरिए हज करने सऊदी अरब गया था। वह वहां भीख मांग रहा था। भीख मांगते हुए वह अपना बैग और पैसे चोरी होने की बात कह रहा था। जिसके बाद सऊदी पुलिस ने 22 जून को मोतियार को मदीना में भीख मांगते गिरफ्तार कर लिया।

ट्रैवल एजेंसी को जारी किया गया नोटिस 

बांग्लादेश के धार्मिक मामलों के मंत्रालय के उप सचिव अबुल काशेम मुहम्मद शाहीन ने बताया कि, घटना के बाद 25 जून को मोतियार को हज के लिए भेजने वाली ट्रैवल एजेंसी धनशिरी एयर ट्रैवल्स लिमिटेड को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। नोटिस में पूछा गया है कि हज और उमराह प्रबंधन अधिनियम के तहत उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई क्यों नहीं की जानी चाहिए?  नोटिस में यह भी कहा गया है कि मोतियार के पास कोई ‘स्थानीय गाइड’ या खुद के रहने के लिए कोई जगह भी नहीं थी। मोतियार ने अपना बैग चोरी होने के बहाने भीख मांगकर विदेश में बांग्लादेश को बदनाम और उसकी इज्जत को धूमिल करने का काम किया है। मंत्रालय ने इस मामले में एजेंसी को 3 दिनों में नोटिस का जवाब देने को कहा गया है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here