सऊदी अरब में महिला को सोशल मीडिया के इस्तेमाल पर मिली हैरान करने वाली सजा, हर तरफ आलोचना


हाइलाइट्स

सऊदी अरब की एक अदालत ने महिला को 45 साल की सजा सुनाई है
मानवाधिकार संस्था ने कहा है कि महिला ने क्या पोस्ट किया था स्पष्ट नहीं है
हाल ही में एक अन्य महिला को भी ऐसी ही सजा सुनाई गई थी

रियाद. सऊदी अरब में एक महिला को सोशल मीडिया पर पोस्ट करने की इतनी बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी, यह कभी उसने सपने में भी नहीं सोचा होगा. दरअसल, सऊदी अरब की एक अदालत ने उस महिला को सोशल मीडिया पर देश को नुकसान पहुंचाने के आरोप में 45 साल जेल की सजा सुनाई है. एक महीने के अंदर सऊदी अरब में इस तरह का यह दूसरा मामला है. इससे पहले भी एक महिला को इतनी ही साल की सुनाई गई है.

फॉक्स न्यूज के मुताबिक नॉरा बिन्त सईद अल-खातनी को सामाजिक ताने-बाने को अस्थिर करने और समाज के सामंजस्य को बाधित करने के आरोप में लगभग आधी सदी तक जेल में गुजारन होगा. नॉरा देश की सबसे बड़ी जनजातीय समुदाय से ताल्लुक रखती हैं और उनका एक्टिविस्ट होने का कोई इतिहास भी नहीं है. कोर्ट में नॉरा पर सोशल मीडिया के इस्तेमाल का आरोप है. कोर्ट के इस फैसले की मानवाधिकार संस्थाओं ने निंदा की है. मानवाधिकार संगठनों के पूछने पर सऊदी अरब के अधिकारियों ने विवरण नहीं दिया. नॉरा को आतंकवादरोधी और साइबरक्राइम कानूनों के तहत सजा सुनाई गई है. जज ने महिला को सार्वजनिक आदेश को सूचना नेटवर्क के माध्यम से उल्लंघन करने का दोषी पाया.

वाशिंगटन स्थित मानवाधिकार संगठन ‘डेमोक्रेसी फॉर द अरब वर्ल्ड नाव’(DAWN) ने कहा है कि यह साफ नहीं है कि नॉरा ने क्या ऑनलाइन पोस्ट किया था. उसकी सुनवाई वाले स्थान की भी जानकारी नहीं मिली है. संगठन के रिसर्च डायरेक्टर अब्दुल्लाह अलॉध ने कहा, “यह नए जजों द्वारा सजा और दोषसिद्धि की एक नई लहर की शुरुआत की तरह है, जिन्हें विशेष आपराधिक अदालत में नियुक्त किया जा रहा है,” अब्दुल्लाह अलॉध ने कहा कि महिला ने सोशल मीडिया पर सिर्फ अपना विचार व्यक्त किया. इससे पहले एक 34 साल की महिला को भी सोशल मीडिया पर पोस्ट के लिए 45 साल की सुनाई गई थी.

ग्रुप के रिसर्च डायरेक्टर एलिसन मेकमैनस ने कहा कि इस तथ्य को नजरअंदाज करना मुश्किल है कि यह सजा तब हो रही है जब अंतरराष्ट्रीय समुदाय में प्रिंस सलमान की वैधता बढ़ती जा रही है. वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक सोशल मीडिया पर पोस्ट को लेकर सुनाई जा रही सजा प्रिंस मोहम्मद के विरोधियों को खत्म करने के रूप में देखा जा रहा है. हालांकि कट्टर इस्लामिक देश ने हाल ही में महिलाओं को कुछ नए अधिकार दिए हैं जिसके तहत वहां अब महिलाएं ड्राइव कर सकती हैं.

Tags: Saudi Arab, Trending news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here