साउथ अफ्रीका के नाइटक्लब में मिले 21 छात्रों की लाशें, मौत की वजह साफ नहीं


डरबन. साउथ अफ्रीका में एक नाइटक्लब में 21 स्टूडेंट्स के शव मिले हैं. मारे गए बच्चे हाई स्कूल एग्जाम खत्म होने का जश्न मनाने के लिए क्लब गए हुए थे. मौत के कारणों का अभी पता नहीं चल सका है. एक पुलिस ऑफिसर के मुताबिक, मारे गए बच्चों के शरीर पर किसी तरह की चोट के निशान नहीं मिले हैं. घटना में मारे गए स्टूडेंट्स की उम्र 13-17 साल बताई जा रही है.

ब्रिगेडियर थेम्बिंकोसी किनाना ने कहा- ‘हमें सूचना मिली कि साउथ अफ्रीका के सीनरी पार्क के पास एक नाइटक्लब में 21 स्टूडेंट्स की मौत हो गई है. 8 लड़कियों और 13 लड़कों के शव मिले हैं. 17 शव क्लब के अंदर से मिले. 4 बच्चों की मौत इलाज के दौरान हो गई.’

संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत
किनाना ने कहा- ‘मौत के कारण का पता लगाया जा रहा है. घटना की जांच की जा रही है. फिलहाल लाशों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. प्राइमरी इन्वेस्टिगेशन से लगता है कि मौत जहर की वजह से हुई है. हम ये भी मानकर चल रहे हैं कि- हो सकता है किसी वजह से यहां भगदड़ मच गई हो, जिसमें स्टूडेंट्स की मौत हो गई. रिपोर्ट्स के मुताबिक, खबर मिलने के बाद बच्चों के पेरेंट्स और भीड़ को क्लब के बाहर देखा गया.

एक अधिकारी ने कहा- सिर्फ 18 साल से ज्यादा उम्र वाले ही शराब पी सकते हैं. ऐसे में हाई-स्कूल के बच्चों का क्लब में होना सवाल खड़े करता है. लोग कई बार कानून का पालन नहीं करते हैं. एडमिनिस्ट्रेशन शराब लाइसेंस से जुड़े कानून में बदलाव को लेकर चर्चा करेंगे. साउथ अफ्रीका में सबसे ज्यादा शराब पीया जाता है.

प्रांतीय प्रधानमंत्री ऑस्कर मबुयाने ने कहा- यकीन नहीं होता कि एक झटके में 21 बच्चों की जान चली गई. शराब का सेवन खतरनाक है. शहर के बीचों-बीच खुले-तौर पर शराब की बिक्री गलत है.

प्रेसिडेंट ने जताया शोक
जर्मनी में G7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने गए साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने इस घटना पर शोक जताया है. उन्होंने कहा- 18 साल से कम उम्र के 21 स्टूडेंट्स की मौत से स्तब्ध हूं. (एजेंसी इनपुट के साथ)

Tags: South africa



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here