सेवेरोडोनेट्स्क में रातभर से हो रही गोलीबारी, पढ़ें यूक्रेन जंग के 10 अपडेट


Russia-Ukraine War News Update: रूस-यूक्रेन के बीच 95 दिनों से जंग चल रही है. डोनबास के लुहांस्क इलाके के सबसे बड़े शहर सिविरोदोनेस्क पर रूस ने जबरदस्त हमला बोला है. यहां रूसी सेना का मुकाबला कर रहे यूक्रेनी बलों ने बताया कि शनिवार से ही रूस ने इस इलाके पर कब्जे के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है. लुहांस्क के गवर्नर सेरही गैडाइ ने बताया कि मिसाइल और गोलों की बारिश की वजह से अभी नुकसान का अंदाजा भी नहीं लग पा रहा है. यहां, तक कि यह भी पता नहीं चल रहा है कि कितने सैनिक मारे गए हैं.

वहीं, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने रविवार को खार्किव के स्टेट सिक्योरिटी हेड रोमन ड्यूडिन को बर्खास्त कर दिया है. जेलेंस्की के मुताबिक, ड्यूडिन खार्किव शहर को डिफेंड करने में नाकाम रहे, इसलिए उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई है. जेलेंस्की ने रविवार को यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खार्किव का दौरा भी किया.

इसके साथ ही आइए जानते हैं रूस और यूक्रेन जंग के 10 अपडेट…

यूक्रेन के स्टेट बॉर्डर गार्ड सर्विस ने बताया कि रूस ने 29 मई को उत्तरी यूक्रेन में 10 बार बमबारी की है.

पोलैंड ने यूक्रेन को सैन्य सहायता के तौर पर 18 होवित्जर तोपें देने का फैसला किया है. ये तोपें 40 किमी तक फायर कर सकती हैं. ये एक मिनट में 6 बार फायर कर सकती हैं. जर्मनी ने भी यूक्रेन को 1 बिलियन यूरो का ग्रांट मुहैया कराएगा.

जेलेंस्की ने क्रीमिया प्रायद्वीप और डोनबास के हिस्से पर फिर से कब्जे की संभावना को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि अगर रूस जबरन कब्जा करने की कोशिश करेगा, तो इस संघर्ष में लाखों लोगों की जान जा सकती है.

इस बीच यूक्रेन ने रूस पर मारियुपोल शहर से स्टील चोरी करने का आरोप लगाया है. यहां की लोकपाल ल्यूडमिला डेनिसोवा ने कहा कि रूस ने मारियुपोल से चुराए गए स्टील को ट्रांसपोर्ट करना शुरू कर दिया है. यहां से 3,000 टन स्टील शिप के जरिए रूस के रोस्तोव-ऑन-डॉन शहर भेजे जा चुके हैं.

यूक्रेन ने रूस पर मारियुपोल शहर से अनाज चुराने का भी आरोप लगाया है. यूक्रेन का आरोप है कि रूसी सैनिकों ने कब्जे वाले इलाकों से 4 लाख टन से अधिक अनाज चुरा लिया है.

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने एक फ्रांसीसी टीवी चैनल पर कहा कि डोनबास की आजादी मॉस्को की पहली प्राथमिकता है, जबकि अन्य यूक्रेनी इलाकों को अपना भविष्य खुद तय करना चाहिए.

जेलेंस्की ने पश्चिमी देशों से मदद की अपील करते हुए कहा कि यूक्रेन को हथियारों देने की मांग की है. हालांकि, वॉशिंगटन स्थित युद्ध अध्ययन संस्थान के मुताबिक, सिविरोदोनेस्क जैसे छोटे से इलाके के लिए रूसी सेना का पूरी ताकत झोंकने के बाद भी जूझना बताता है कि यूक्रेन मजबूती से अपने इलाकों की हिफाजत कर रहा है.

रूसी सेना ने रणनीतिक तौर पर अहम माने जाने वाले पूर्वी यूक्रेन के लीमन शहर पर कब्जा कर लिया है. रूसी सेना ने शनिवार को इस बात की पुष्टि की है. जंग शुरू होने से पहले इस शहर की आबादी 20,000 थी. इसका पुराना नाम कसीनी लीमन है.

जंग की वजह से यूक्रेन के लुहांस्क में 3400 से अधिक कंपनियां बंद हो चुकी हैं. इनमें 479 मैन्युफैक्चरिंग प्लांट भी शामिल हैं. वहीं, मायकोलाइव में शनिवार को हुए रूसी बमबारी में 1 व्यक्ति की मौत हुई है। वहीं 6 लोग घायल हुए हैं.

यूक्रेनी अधिकारियों के मुताबिक, जंग के दौरान अब तक 242 यूक्रेनी बच्चे मारे गए हैं, वहीं 440 घायल हुए है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : May 30, 2022, 07:41 IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here