स्पेन में बिना सहमति वाले यौन संबंधों को माना जाएगा बलात्कार, संसद में विधेयक पास


मैड्रिड: स्पेन की संसद के निचले सदन ने गुरुवार को एक विधेयक पारित किया, जिसके तहत बिना सहमति वाले सभी प्रकार के शारीरिक संबंध को बलात्कार माना जाएगा. चार साल पहले देश में महिला अधिकारों के आंदोलन को गति देने वाले तथाकथित ‘वुल्फ पैक’ मामले के बाद उपजे सामाजिक आक्रोश के जवाब में ​स्पेन की संसद ने यह विधेयक पारित​ किया है.

स्पेनिश सरकार द्वारा प्रस्तावित यह कानून, जिसे ‘ओनली यस इन यस’ यानी ‘सिर्फ हां का मतलब हां होता है’ के रूप में जाना जाता है, यौन शोषण और यौन हमले से जुड़े अपराधों को उसी प्रकार के अपराध में मिला देता है, जिसे बलात्कार माना जाता है. पीड़ितों को ऐसे मामलों में अब अदालत में अपने खिलाफ हिंसा या प्रतिरोध साबित नहीं करना होगा.

विधेयक के समर्थन में 195 मत पड़े
स्पेन के समानता मंत्री आइरीन मोंटेरो ने कांग्रेस में (स्पेन की संसद) सांसदों से कहा, ‘आदर्श वाक्य ‘ओनली यस इन यस’ और ‘सिस्टर आई डू बिलीव यू’ आखिरकार कानून में बदलने जा रहे हैं. अब से, स्पेन सभी महिलाओं के लिए एक स्वतंत्र और सुरक्षित देश है.’ इसके ड्राफ्ट पर करीब 2 साल से काम चल रहा है. स्पेनिश संसद के निचले सदन में, विधेयक के समर्थन में 195 मत पड़े, जबकि3 सदस्य मतदान में शामिल नहीं हुए. अब इस विधेयक पर उच्च सदन में मतदान होगा और यहां से पास होने के बाद कानून के रूप में लागू होगा.

‘वुल्फ पैक’ मामले के बाद फैसला
‘वुल्फ पैक’ मामले के बाद से स्पेन की वामपंथी सरकार के एजेंडे में लैंगिक हिंसा का मुकाबला उच्च रहा है. साल 2018 में ‘वुल्फ पैक’ नाम से खुद का जिक्र करने वाले 5 लोगों को, 2016 में पैम्प्लोना बुल-रनिंग फेस्टिवल के दौरान एक युवती के साथ सामूहिक बलात्कार के मामले में, यौन शोषण से कम अपराध के लिए जेल में डाल दिया गया था. उनकी सजा के खिलाफ स्पेन में बड़े पैमाने पर विरोध ने पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित किया, और 2019 में एक अपील का नेतृत्व किया जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने पांचों को बलात्कार का दोषी माना और उन्हें लंबी सजा सुनाई.

स्पेन में फिर आए दो ऐसे मामले
हाल के दो मामलों ने स्पेन को एक बार फिर झकझोर कर रख दिया है, जिसमें एक नाबालिग ने 18 वर्षीय महिला के साथ कथित रूप से बलात्कार किया, वहीं दूसरे मामले में एक अन्य नाबालिग ने 12 और 13 वर्षीय किशोरों के साथ बलात्कार और दुर्व्यवहार किया. महिला अधिकारों को और मजबूती देने की कोशिश में, स्पेनिश सरकार ने गत 17 मई को एक मसौदा विधेयक का प्रस्ताव दिया. इसके तहत स्पेन यूरोप का पहला देश बनने के लिए तैयार है, जहां पीरियड्स के दौरान महिलाओं को ‘पेड लीव’ मिलेगा.

Tags: Rape Case, Sexual Abuse, Spain



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here