Canada AIDS Conference: HIV से ठीक हुआ चौथा व्यक्ति, बीमारी का इलाज क्या अब संभव है?


ओटावा. HIV बीमारी के इलाज को खोजने में वैज्ञानिक अब अपनी कोशिश में कामयाब दिख रहे हैं. अमेरिका के वैज्ञानिकों ने एक नई तकनीक से HIV के चौथे मरीज का इलाज कर दिया है. यह दुनिया में चौथा व्यक्ति है जो एचआईवी से ठीक हो गया है. मरीज कैंसर (Cancer) से भी जूझ रहा था और अब दोनों ही बीमारियों से ठीक हो गया है.

कैलिफोर्निया के केंद्र के नाम पर एक 66 वर्षीय व्यक्ति, जिसे “सिटी ऑफ होप” रोगी नामित किया गया था. दरसल ये व्यक्ति HIV रोग से पीड़ित था. शुक्रवार को मॉन्ट्रियल, कनाडा में शुरू होने वाले अंतरराष्ट्रीय एड्स सम्मेलन में इस व्यक्ति के ठीक होने कि घोषणा की गई,  इससे पहले न्यूयॉर्क की एक अमेरिकी महिला को ठीक किया गया था.

HIV रोग विशेषज्ञ, जाना डिक्टर ने एएफपी (AFP)  को बताया कि इलाज की प्रक्रिया काफी खतरनाक थी. मरीज को कैंसर के साथ-साथ HIV भी था. यह एचआईवी पीड़ितों के लिए आशाजनक हो सकती है, जो कैंसर से भी जूझ रहे हैं.

बर्लिन और लंदन के मरीज़ों की तरह सिटी ऑफ़ होप के मरीज़ ने कैंसर के इलाज के लिए बोन मैरो ट्रांसप्लांट कराया और इसके बाद उसे HIV वायरस से भी छुटकारा मिल गया. जानकारी के मुताबिक एक अन्य व्यक्ति, डसेलडोर्फ मरीज भी लगभग ठीक होने की कगार पर है और संभावित रूप से ठीक होने वालों की संख्या को पांच तक पहुंच जाए.

मरीज ने बताया कि उसे 31 साल से एचआईवी था, जो पिछले किसी भी मरीज की तुलना में अधिक लंबा समय है. 80 के दशक में HIV+ होना श्राप था क्योंकि उन्होंने अपने कई जानकारों को इस बीमारी से मरते देखा है. लेकिन अब एंटीरेट्रोवाइरल थेरेपी वैश्विक 38 मिलियन लोगों को एचआईवी के मरीजों के लिए एक नई उम्मीद कि किरण है.

डिकटर ने कहा कि कम-तीव्रता वाली कीमोथेरेपी ने रोगी के लिए काम किया, संभावित रूप से कैंसर से पीड़ित पुराने एचआईवी रोगियों को इलाज की अनुमति दी. लेकिन यह गंभीर दुष्प्रभावों के साथ एक जटिल प्रक्रिया है.

शोधकर्ताओं ने बताया कि एचआईवी वाली कोशिका में कई विशेष बातें हैं. इन कोशिकाओं को मारना मुश्किल है क्योंकि यह पतला और लचीला है इसलिए  इसके बारे में पता लगाना मुश्किल है. “यही कारण है कि एचआईवी एक आजीवन संक्रमण है.”

Tags: HIV



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here