China Solar Drone: चीन का पूरी तरह सौर ऊर्जा पर चलने वाला सेमी-सैटेलाइट ड्रोन तैयार, उड़ान का VIDEO वायरल, जानें ताकत


China Solar Drone-Qimingxing-50- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER
China Solar Drone-Qimingxing-50

Highlights

  • ड्रोन के विंग्स 164 फीट तक लंबे हैं
  • सौर उपकरणों का अधिकतम उपयोग करता है
  • निगरानी करने में बेहद मददगार है ड्रोन

China Solar Drone: चीन का पूरी तरह से सौर ऊर्जा से चलने वाला सेमी सैटेलाइट ड्रोन तैयार हो गया है। उसने सभी ऑनबोर्ड सिस्टमों के बेहतर ढंग से काम करने के साथ ही अपनी पहली परीक्षण उड़ान सफलतापूर्वक पूरी कर ली है। चीन के सरकारी मीडिया के अनुसार, ड्रोन ने शनिवार शाम 5.50 बजे शांक्सी प्रांत के एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी। उसने 26 मिनट तक अच्छे से उड़ान भरी और सुरक्षित लैंडिंग की। ड्रोन के विंग्स 164 फीट लंबे हैं, और ये बड़े आकार की मशीन पूरी तरह सोलर पैनल पर चलती है। ये यूएवी (अनमैन्ड एरियल वेहिकल) लंबी दूरी तक उड़ान भरने में सक्षम है। इसका नाम Qimingxing-50 या Morning Star-50 रखा गया है। 

ड्रोन 20 किलोमीटर की ऊंचाई पर भी उड़ सकता है। हालांकि अगर बादल न हों तो ही इसकी उड़ान बेहतर हो पाती है। इससे वह लंबे समय तक उड़ने के लिए सौर उपकरणों का अधिकतम उपयोग कर पाता है। दरअसल, ड्रोन के मुख्य डिजाइनर ने साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट को बताया कि यह महीनों, यहां तक ​​कि सालों तक बिना ब्रेक के काम कर सकता है। हैरानी की बात ये है कि ड्रोन अंतरिक्ष के पास भी काम कर सकता है। यह पृथ्वी की सतह से 20 किमी से 100 किमी ऊपर तक एक सैटेलाइट की तरह काम करने में सक्षम है।

चीन की ताकत और बढ़ाई

अगर सैटेलाइट सेवा उपलब्ध नहीं है, जैसे समय की दिक्कत की वजह से या फिर युद्ध के कारण, तो यह परिचालन के अंतर को पाट सकते हैं। इस तरह के ड्रोन को ‘हाई एल्टीट्यूड प्लैटफॉर्म स्टेशंस’ या छद्म उपग्रह यानी सैटेलाइट की नकल भी कहा जाता है। वैसे तो चीन के पास पहले से ही ये क्षमता मौजूद है लेकिन Qimingxing-50 से चीन को यही क्षमता लंबे समय तक के लिए मिल जाती है। इस साल जुलाई में अमेरिकी सेना ने भी सौर ऊर्जा से चलने वाला और अंतरिक्ष के पास काम करने में सक्षम Airbus Zephyr S ड्रोन का परीक्षण करने में मदद की थी। ड्रोन ने 42 दिनों तक हवा में रहकर एक नया रिकॉर्ड बनाया है।

अमेरिका और चीन दोनों के ही ये ड्रोन निगरानी वाले मिशन को अंजाम दे सकते हैं, जिससे यह महीनों तक अधिक समय तक काम कर सकते हैं और सीमाओं और सागरों से परे देख सकते हैं। 

Morning Star-50 जैसे ड्रोन को बनाने में काफी पैसा लगा है। इन्हें लॉन्च और संचालित करना आसान है। सूर्य से मिलने वाली ऊर्जा से चलने वाले ये ड्रोन चीन की अंतरिक्ष के पास संचालित होने और सागरों से परे काम करने की वर्तमान क्षमता को बढ़ाने में मददगार हैं। यह हेल यूएवी जंगल की आग की निगरानी, ​​संचार और पर्यावरण की जानकारी प्रदान करने के अलावा, अधिक ऊंचाई वाले सैन्य परीक्षण का संचालन करने में भी सक्षम है।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here