Floods in afghanistan: अफगानिस्तान में भारी बारिश और बाढ़ से 31 लोगों की मौत, सैकड़ों लोग लापता


Representative images- India TV Hindi News
Image Source : PTI
Representative images

Highlights

  • अफगानिस्तान में भारी बारिश और बाढ़ ने मचाई तबाही
  • करीब 31 लोगों की हुई मौत, सैकड़ों लोग गायब
  • आगे भी भारी बारिश का अनुमान, जन-जीवन हुआ अस्त-व्यस्त

Floods in afghanistan: उत्तरी अफगानिस्तान में भारी बारिश के कारण आई बाढ़ में करीब 31 लोगों की मौत हो गई और दर्जनों लोग लापता हो गए हैं। तालिबान की सरकारी समाचार एजेंसी ने सोमवार को यह जानकारी दी। ‘बख्तर’ समाचार एजेंसी के अनुसार, बाढ़ रविवार को उत्तरी परवान प्रांत में आई। मृतकों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं और 17 लोगों के घायल होने की खबर है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सोमवार को कम से कम 100 लोग लापता हो गये। तलाश एवं बचाव अभियान जारी है। परवान प्रांत के तीन प्रभावित जिलों में बाढ़ के कारण दर्जनों घर पानी में बह गए। स्थानीय मौसम विभाग के मुताबिक, आने वाले दिनों में अफगानिस्तान के अन्य 34 प्रांतों में और अधिक बारिश होने की आशंका है।

अस्त-व्यस्त हुआ लोगों का जीवन

गौरतलब है कि देश भर में भारी बारिश और बाढ़ के कारण जुलाई और जून में क्रमश: 40 और 19 लोगों की मौत हो गयी। अफगानिस्तान इस समय तालिबान के शासन में कई तरह के अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंधों के कारण आर्थिक समस्याओं का भी सामना कर रहा है। इससे आपदाओं के बाद लोगों की मदद करना और कठिन हो जाता है। इस समय मॉनसून के कारण भारत और पड़ोसी देशों में भारी बारिश होने से कई इलाकों में बाढ़ के कारण तबाही देखने को मिली है। पाकिस्तान में हाल के दिनों में आई बाढ़ के कारण सैकड़ों लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है। 

लोगों को खाने के लाले पड़े

अफगानिस्तान की हालत वैसे ही पहले से खराब है और अब भारी बारिश और बाढ़ के कारण लोगों का जीना और मुहाल हो गया है। लोगों को खाने के लाले पड़ रहे हैं। तालिबानी शासन के बाद यहां के लोगों की हालत और बद से बदतर हो गई है। अफगानिस्तान बुनियादी रूप से पूरी तरह बदल गया है। तालिबान को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा किए हुए सोमवार को एक साल हो गया। अफगानिस्तान में एक साल में बहुत कुछ बदल गया है। 

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here