Genghis Khan: दुनिया के 1.6 करोड़ पुरुष ‘हत्यारे’ चंगेज खान के वंशज, रहते हैं इन 3 देशों में, कब्र का कोई अता पता नहीं


Genghis Khan Descendants in World- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV
Genghis Khan Descendants in World

Highlights

  • 1 करोड़ 60 लाख पुरुष चंगेज के वंशज
  • दुनिया के 200 में से एक पुरुष वंशज
  • किसी को कब्र के बारे में नहीं पता

Genghis Khan: चंगेज खान का नाम इतिहास में दर्ज है, जिसे पूरी दुनिया जानती है। उसके अपराधों, लूटपाट और विरासत से जुड़ी कहानियों को अकसर सुना जाता है। ये इंसान जिस रास्ते से गुजरा वहां मौत और तबाही के अलावा कुछ और देखने को नहीं मिला। उसके सैनिकों ने लोगों के सिर इसलिए धड़ से अलग कर दिए, ताकि ये दिखा सकें कि किसी शहर या गांव को किस हद तक लूटा गया है। इन्होंने केवल लूटपाट और हत्याओं को ही अंजाम नहीं दिया बल्कि बड़े स्तर पर महिलाओं के साथ भी बलात्कार किया है। 

चंगेज खान सबसे खूबसूरत महिला को अपने हरम में लेकर जाता था और बाकी बची महिलाओं को मरवा देता है। उसकी सैकड़ों पत्नियां थीं। जिनसे उसके कुल 200 बेटे थे। जिनमें से कई ने बाद में अपने खुद के साम्राज्य बनाए और बडे़ स्तर पर हरम की व्यवस्था की। इतना बड़ा परिवार होने के बावजूद भी मौत के वक्त चंगेज खान की किस्मत ने उसका साथ नहीं दिया। आज के समय में किसी को नहीं पता कि चंगेज खान का मकबरा कहां है। उसकी मौत को लेकर भी तमाम तरह के दावे किए जाते हैं। 

200 पुरुषों में से एक वंशज

दुनिया के हर 200 पुरुषों में से एक चंगेज खान का वंशज है। साल 2003 में ह्यूमन जेनेटिक्स पर अमेरिकी जनरल में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि सबूतों से पता चला कि आज धरती पर जीवित 1.6 करोड़ पुरुषों में चंगेज खान का डीएनए मौजूद है। इंग्लैंड की लीन्सटर यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने शोध में पाया कि मंगोलियाई साम्राज्य के भीतर रहने वाले आठ फीसदी पुरुषों के वाई गुणसूत्र के अंदर एक निशान है, जो बताता है कि वे चंगेज खान के वंश से जुडे़ हैं। इस शोध के आधार पर ये कहा जाता है कि दुनिया के 1.6 करोड़ यानी 0.5 फीसदी पुरुष चंगेज खान के परिवार से संबंधित हैं। 

इसका मतलब है कि दुनिया के प्रत्येक 200 में से एक शख्स सीधे चंगेज खान का वंशज हो सकता है। ये लोग रूस, चीन और पाकिस्तान में रहते हैं। पाकिस्तान का हजारा समुदाय भी चंगेज खान के परिवार से जुड़े हुआ है। चंगेज खान तीन करोड़ स्क्वायर किलोमीटर में फैले साम्राज्य का मालिक था। मंगोलिया के आक्रमणकारी चंगेज खान का जन्म 1162 में बोरजिगिन कबीले के तेमुजिन में हुआ था। उसका खौफ इस कदर तक था कि बड़े बडे़ साम्राज्य महज उसका नाम सुनकर उसके आगे झुक जाते थे। चंगेज खान मॉस्को (रूस की राजधानी) से लेकर बीजिंग (चीन की राजधानी) तक के साम्राज्य का मालिक था। मंगोल सल्तनत 30 मिलियन स्क्वायर किलोमीटर तक फैली हुई थी। आज इस इलाके में 3 करोड़ लोग रहते हैं। 

चंगेज खान का पिता यांगसुई भी अपने कुल का सरदार था। जब चंगेज 10 साल का था, तभी उसके पिता की मौत हो गई। जिसके बाद, चंगेज खान ने अपने कुटिल दिमाग और हिंसक प्रवृत्ति के बल पर कबीले पर कब्जा कर लिया। उसने हजारों कातिलों की एक विशेष सेना तैयार की। जिसमें शामिल लुटेरे शहरों में लोगों को लूटने, बर्बाद करने और मारने लगे।

मुसलमान नहीं था चंगेज खान?

कई इतिहासकार ये दावा करते हैं कि चंगेज खान मुसलमान नहीं था। जबकि कई उसे उसके उपनाम खान की वजह से मुसलमान बोलते हैं। हालांकि ये सच है कि उसका दूसरे किसी धर्म के मुकाबले इस्लाम की तरफ अधिक झुकाव था। मशहूर इतिहासकार अता मलिक जुवैनी के मुताबिक, चंगेज खान ने ख्वार्जमिया की अपनी विजय के दौरान मुसलमानों को धार्मिक आजादी दी थी। वो नमाज अदा कर सकते थे। हालांकि राशिद-अल-दीन का दावा है कि इस अवसर पर उसने एक हलाल कसाई को मना किया था। ऐसा कहा जाता है कि उसने बड़ी संख्या में मुस्लिमों को मारा था। हालांकि उसके अत्याचार के शिकार बने अधिकतर लोग दूसरे धर्मों के थे।  

चंगेज खान की मौत के कारणों पर विवाद


 

वैज्ञानिक अभी तक चंगेज खान की मौत के कारणों पर सहमति व्यक्त नहीं कर पाए हैं। कई इतिहासकारों का दावा है कि वह युद्ध के दौरान घायल होने के कारण मरा है। वहीं ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड में फ्लिंडर्स यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन में दावा किया गया है कि चंगेज खान की मृत्यु ब्यूबोनिक प्लेग से हुई थी। चंगेज खान के परिवार और अनुयायियों को उसके निधन को सबसे बड़ा रहस्य रखने का निर्देश दिया गया था। ऐसा इसलिए किया गया था क्योंकि पश्चिमी शियाओं के साथ चीन के युद्ध के दौरान चंगेज खान की मौत हो गई थी। चंगेज खान के नेतृत्व में मंगोल सेना लगभग 20 साल से पश्चिमी शियाओं के साथ युद्ध लड़ रही थी। यह भी कहा जाता है कि चंगेज खान को उत्तर-पश्चिम चीन में तिब्बती-बर्मन जनजाति तांगुत की एक राजकुमारी ने चाकू मार दिया था। जिसके बाद उसके शरीर से अत्यधिक रक्त निकलने के कारण चंगेज खान की मौत हो गई। यह भी दावा किया जाता है कि वह युद्ध के दौरान अपने घोड़े से गिर गया और उस दौरान एक तीर से मारा गया था।

चंगेज खान की कब्र का भी पता नहीं

दुनियाभर के राजा, सम्राट और सुल्तानों की मौत के बाद उनकी कब्र बनाई गई हैं। लेकिन 200 बच्चों का पिता और हजारों किलोमीटर तक फैले साम्राज्य के मालिक चंगेज खान की एक कब्र तक नहीं है। ये कहा जाता है कि चंगेज खान नहीं चाहता था कि उसकी मौत के बाद उसका कोई नामो निशान रहे। इसलिए उसने अपने साथियों से कहा था कि उसकी मौत के बाद उसे अज्ञात स्थान पर दफन कर दिया जाए। उसके साथियों ने फिर यही किया। उसे जमीन में दफनाने के बाद उस मिट्टी पर हजारों घोड़ों को दौड़ाया गया और सतह को इस तरह समतल कर दिया गया कि किसी को कब्र का कोई निशान न मिल पाए।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here