NASA Halloween Picture: इसके चंगुल से बचना नामुमकिन… हैलोवीन पर नासा ने शेयर की अंतरिक्ष की डरावनी तस्वीर, कहीं भूत तो नहीं?


नासा ने अंतरिक्ष में ली गई एक डरावनी तस्वीर शेयर की- India TV Hindi News

Image Source : NASA
नासा ने अंतरिक्ष में ली गई एक डरावनी तस्वीर शेयर की

NASA Halloween Picture: इस समय ये पूरी दुनिया डरावनी और खौफनाक चीजों की बात कर रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि हैलोवीन जो चल रहा है। इस दिन लोग खुद को ज्यादा से ज्यादा डरावना दिखाने की कोशिश करते हैं। यही वजह है कि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने भी इस मौके को नहीं छोड़ा और सोशल मीडिया पर एक शानदार और डरावनी तस्वीर शेयर की है। इस तस्वीर को नासा ने अपने सबसे ताकतवर जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप से लिया है। इस तस्वीर में दूर अंतरिक्ष में मौजूद धूल और संरचनाएं देखी जा सकती हैं। जिन्हें पिलर्स ऑफ क्रिएशन भी कहते हैं। 

तस्वीर को शेयर करते हुए नासा ने अपने इंस्टाग्राम पर लिखा है, ‘आप इसके चंगुल से बच नहीं सकते हैं।’ जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप ने पिलर्स ऑफ क्रिएशन की डार्क साइड की तस्वीर ली है। ये जगह 6500 प्रकाश वर्ष की दूरी पर ईगल नेबुला में स्थित है। बीते महीने भी जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप ने पिलर्स ऑफ क्रिएशन की खूबसूरत तस्वीर ली थीं। ये खगोलीय ‘टावर’ तारे के बीच की धूल और गैस से बने हैं और नए सितारों की चमक हैं। ये संरचनाएं उतनी ही बड़ी हैं, जितनी कि ये तस्वीरों में दिखाई देती हैं। इनकी लंबाई लगभग 5 प्रकाश वर्ष होती है।

अंतरिक्ष की खूबसूरत तस्वीरें ले रहा जेम्स वेब

अगर हम नासा के जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप की बात करें, तो यह जब से लॉन्च हुआ है, तभी से अंतरिक्ष की एक से एक खूबसूरत तस्वीर भेज रहा है। उसने अंतरिक्ष की बेहद गहराई से ली गई तस्वीरें भी क्लिक की हैं। ये वो तस्वीरें हैं, जिन्हें इंसानों ने पहले कभी नहीं देखा है। इस टेलीस्कोप ने जैसे ही काम करना शुरू किया, उससे एस्ट्रोनॉमर्स काफी खुश हो गए। जेम्स वेब को बहुत बार हबल टेलीस्कोप का उत्तराधिकारी तक कह दिया जाता है। इसे दो दशक की कड़ी मेहनत के बाद 25 दिसंबर, 2021 में लॉन्च किया गया था। वहीं इसे बनाने की लागत 10 बिलियन डॉलर थी। यह टेलीस्कोप आज धरती से 1.6 मिलियन किलोमीटर की दूरी पर अंतरिक्ष में स्थित है।

हबल से किस तरह अलग है जेम्स वेब टेलीस्कोप

नासा के हबल टेलीस्कोप को पराबैंगनी (यूवी) और विद्युत चुंबकीय स्पेक्ट्रम के दृश्य यानी इन दोनों का उपयोग करने के लिए डिजाइन किया गया था। जबकि जेम्स वेब को इन्फ्रारेड लाइट की एक विस्तृत श्रंखला का इस्तेमाल करने के लिए डिजाइन किया गया है। यह एक मुख्य वजह है कि हबल की तुलना में जेम्स वेब समय को और अधिक पीछे से देख सकता है। गामा किरणों से लेकर रेडियों की तरंगो तक विद्युत चुंबकीय स्पेक्ट्रम पर गैलेक्सी तरंगदैर्ध्य की एक श्रंखला का उत्सर्जन करती है। इनसे हमें गैलेक्सी में होने वाली विभिन्न भौतिकी से जुड़ी जरूरी जानकारी मिलती हैं।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here