Nasa Moon mission: एलन मस्क के इस सुझाव से अब तीसरी बार फेल नहीं होगा नासा का मून मिशन, जानें सीक्रेट


NASA- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV
NASA

Highlights

  • नासा के मून मिशन को मस्क का सुझाव
  • एलन मस्क के सुझाव से विफल नहीं होगा नासा का मून मिशन
  • मस्क ने बताया मून मिशन का सीक्रेट प्लान

Nasa Moon mission: अमरिकी स्पेस एजेंसी का मून मिशन दो बार तकनीकी खामियों की वजह से फेल हो चुका है। वैज्ञानिक इसका निदान ढूंढ़ने में जुटे हैं। ताकि इस बार यह मिशन बगैर किसी बाधा के लांच हो सके। मगर अभी भी कई तरह की आशंकाएं बनी हुई हैं। इसी बीच टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क ने नासा को एक ऐसा सुझाव दिया है कि जिससे आसानी से अमेरिका का ये मून मिशन सफल हो जाएगा। उन्होंने दावा किया है कि इस सुझाव के आधार पर नासा के वैज्ञानिक आगे बढ़ें तो मून मिशन की लांचिंग में किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी। 

इधर अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने अपने आर्टेमिस-1 मिशन की लॉन्चिंग को फिर से स्थगित कर दिया है। दो बार असफल होने के कारणों का वैज्ञानिक अब उसका ठोस विकल्प ढूंढ़ रहे हैं। इस बीच टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क रविवार को इस मिशन के लिए एक सुझाव लेकर आए, जो दशकों बाद अंतरिक्ष यात्रियों को चंद्रमा की सतह पर उतारेगा। दरअसल, शनिवार को वैज्ञानिकों को लॉन्च से कुछ घंटे पहले ही स्पेस लॉन्च सिस्टम (एसएलएस) रॉकेट में फ्यूल लीकेज का पता चला है। जिसके चलते रॉकेट की लॉन्चिंग टाली गई।

मस्क ने दिया ये सुझाव


एआरएस टेक्निका के एरिक बर्जर के अनुसार, मस्क ने कहा कि “रैप्टर डिजाइन एच2 (हाइड्रोजन) का उपयोग करके शुरू हुआ, लेकिन सीएच 4 (हाइड्रोजन) में बदल गया। मेरी राय में बाद वाला उच्च दक्षता और संचालन में आसानी का सबसे अच्छा संयोजन है। मस्क ने कहा, “एच2 और सीएच4 के बीच डेल्टा-5 अंतर अधिकांश मिशनों के लिए पर्याप्त नहीं है, क्योंकि सीएच4 टैंक बहुत छोटा है और किसी इन्सुलेशन की जरूरत नहीं है। डेल्टा-5 वेलोसिटी का अंतर है, जो एक रॉकेट इंजन विशिष्ट आवेग और वाहन के द्रव्यमान में भिन्नता के कार्य के रूप में अंतरिक्ष यान पर लगा सकता है।

मीथेन को लांचिंग के लिए बताया महत्वपूर्ण

एलन मस्क ने आर्टेमिस-1 मिशन की लॉन्चिंग के लिए मंगल पर सीएच4 (मीथेन) का उत्पादन करना आसान है और लॉन्च मिशन के लिए उन्होंने इसे बहुत महत्वपूर्ण बताया है। आपको बता दें कि स्पेसएक्स लिक्विड मीथेन और हाइड्रोजन को फ्यूल के रूप में उपयोग करने वाली पहली कंपनियों में से एक है। एलन मस्क का दावा है कि मेरे इन सुझावों को अपना कर आने वाले दिनों में नासा तीसरी बार आर्टेमिस-1 मिशन को लॉन्च करने की कोशिश कर सकता है।

एलन मस्क के सुझाव पर विचार कर सकते हैं नासा के वैज्ञानिक

मून मिशन की सफल लांचिंग के लिए विकल्प ढूंढ़ने में जुटे नासा के वैज्ञानिक एलन मस्क के उक्त सुझावों पर विचार कर सकते हैं। फिलहाल नासा के वैज्ञानिक तकनीकी वजहों से दो बार अपने आर्टेमिस-1 मिशन को टाल चुके हैं। तीसरी बार वह चूक का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं। इसलिए वह सभी विकल्पों पर विचार करने के बाद ही इस बार इसे लांच करेंगे।  नासा के वैज्ञानिक इस मिशन को लेकर बहुत उत्साहित हैं, लेकिन दो बार तकनीकी दिक्कतें आ जाने से उनका हौसला कुछ कम हुआ है। इस बार तकनीकी खामियों को पूरी तरह दूर करने के बाद ही वह अपने मिशन को लांच करेंगे। ऐसे में माना जा रहा है कि एलन मस्क के उक्त सुझावों पर नासा के वैज्ञानिक विचार जरूर करेंगे। अगर बात समझ में आई तो मस्क के फार्मूले को वैज्ञानिक लागू भी कर सकते हैं। 

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here