Pakistan Politics: नवाज शरीफ बोले- मैंने पीएम शहबाज के बारे में कोई नकारात्मक टिप्पणी नहीं की


Nawaz Sharif- India TV Hindi News
Image Source : ANI
Nawaz Sharif

Pakistan Politics: पीएमएल-एन सुप्रीमो नवाज शरीफ ने अपने छोटे भाई और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के बारे में ‘नकारात्मक टिप्पणियों’ से खुद को अलग कर लिया है और उम्मीद जताई है कि प्रधानमंत्री वर्तमान में पाकिस्तान के सामने मौजूद चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों से देश को बाहर निकालेंगे। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, नवाज ने गुरुवार को देर रात ट्वीट कर कहा, “प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के बारे में मेरे द्वारा की गई ‘नकारात्मक टिप्पणियां’ भ्रामक और गलत हैं।”

नवाज बोले- देश को मुश्किल हालातों से बाहर ले आएंगे शहबाज

पीएम शहबाज से मतभेद की खबरों के बीच नवाज शरीफ ने अपने एक ताजा ट्वीट में अपने भाई को अपना पूरा समर्थन दिया है। इसमें उन्होंने कहा, “ये खबर बिल्कुल गलत और गुमराह करने वाली है कि मैंने प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के बारे में नकारात्मक टिप्पणियां की हैं। मुझे पूरी उम्मीद है कि इन कठिन परिस्थितियों के बीच शहबाज शरीफ जो गंभीर और अथक प्रयास कर रहे हैं, उनका फल मिलेगा। वे उस गड़बड़झाले से देश को निकालने में कामयाब रहेंगे, जिसमें इमरान खान देश को ले गए थे।”

पार्टी में फूट के बीच नवाज ने स्पष्टीकरण दिया

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, नवाज का स्पष्टीकरण पार्टी के भीतर आंतरिक दरार के संकेतों के बीच आया है। पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को अविश्वास मत के जरिए सत्ता से हटाने के बाद पीएमएल-एन गठबंधन में सत्ता में आने में दो महीने से भी कम समय में, मई की शुरूआत में कथित तनाव के संकेत दिखाई दे रहे थे। पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष मरियम नवाज, जिन्हें कभी पार्टी सुप्रीमो की उत्तराधिकारी के रूप में देखा जाता था, ने सरगोधा में 19 मई की रैली में इमरान की नए चुनाव की मांग का खुलकर समर्थन किया था, जबकि नया गठबंधन सेटअप आर्थिक संकट का सामना कर रहा है।

नए सिरे से चुनाव करना बेहतर -मरियम 

सरगोधा रैली में, मरियम का विचार था कि कीमतों में बढ़ोतरी के साथ जनता पर बोझ डालने के बजाय नए सिरे से चुनाव करना बेहतर है। मरियम की टिप्पणी सत्तारूढ़ गठबंधन द्वारा अपना कार्यकाल पूरा करने के फैसले के एक दिन बाद आई, जो अगस्त 2023 में समाप्त होने वाला है। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, हाल ही में, पंजाब विधानसभा की 20 सीटों पर महत्वपूर्ण उपचुनावों में पीएमएल-एन की हार से नवाज शरीफ के नाराज होने की खबरें आई थीं – एक हार जिसने उनकी पार्टी के लिए देश के सबसे अधिक आबादी वाले प्रांत को पीटीआई से हारने का मार्ग प्रशस्त किया।

जब चाचा नवाज को हार का स्पष्टीकरण देने गए हमजा शहबाज

शहबाज के बेटे और उस समय पंजाब के मुख्यमंत्री, हमजा शहबाज, इस महीने की शुरूआत में लंदन के लिए रवाना हुए थे, जो कथित तौर पर नवाज शरीफ को उप-चुनावों में पीएमएल-एन की हार का स्पष्टीकरण देने के लिए रवाना हुए थे। वह परवेज इलाही से सीएम पद की रेस हार गए, जो पीटीआई-पीएमएल-क्यू गठबंधन के संयुक्त उम्मीदवार थे। पीएमएल-एन के एक अंदरूनी सूत्र ने डॉन को बताया, “हमजा को सीएम के तौर पर खराब प्रदर्शन और उपचुनावों के दौरान खान के आक्रामक अभियान के सामने अपने पिता की त्रुटिपूर्ण रणनीति के लिए अपने अकंल (नवाज शरीफ) को संतुष्ट करना होगा।”

महंगाई से सरकार भी सासत में

पीएमएल-एन में दरार के बारे में अटकलों को तब और बल मिला, जब शहबाज सरकार ने 15 अगस्त को पेट्रोल की कीमतों में एक और वृद्धि की घोषणा की। इस वृद्धि के बाद, मरियम ने ट्वीट किया कि नवाज ने इस फैसले का कड़ा विरोध किया और यहां तक कहा कि वह लोगों पर और बोझ नहीं डाल सकते और वह फैसले के पक्ष में नहीं थे।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here