Queen Elizabeth II: महारानी एलिजाबेथ के निधन से पहले बन गया था सीक्रेट प्लान, ‘ऑपरेशन द लंदन ब्रिज’


Queen Elizabeth II- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV
Queen Elizabeth II

Highlights

  • अंतिम संस्कार का कार्यक्रम पूरे 10 दिन तक चलेगा
  • उस दिन डी डे के रूप में शोक मनाया जाएगा
  • लिज ट्रस को फोन करके सूचना दी गई

Queen Elizabeth II: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ II का निधन हो गया। वह काफी लंबे समय से बीमार चल रही थी। 96 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। महारानी एलिजाबेथ || सबसे लंबे समय शासन करने वाले शासक बनी। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के बाद उनके बेटे चार्ल्स को नया राजा बनाया गया। चार्ल्स की लगभग उम्र 73 साल हो गई है। महारानी एलिजाबेथ II बाल्मोरल में समर की छुट्टियां बिताने के लिए आई थी इसी जगह पर उनके निधन हुई। आज आपको निधन से जुड़ी एक कहानी हम शेयर करने जा रहे हैं। आपको बता दें कि एलिजाबेथ जब नहीं मरी थी तो उनके मरने से पहले ही योजना तैयार कर ली गई थी कि जब वह मरेंगी तो क्या-क्या होगा। 

अमेरिकी न्यूज वेबसाइट ने किया था खुलासा

‘ऑपरेशन लंदन ब्रिज’ के नाम से एक खबर इंग्लैंड मीडिया में वायरल हो गई। ऑपरेशन लंदन ब्रिज क्या था, जब सामने आया तो जान कर सभी दंग रह गए। इस ऑपरेशन में एलिजाबेथ के मरने के बाद पूरी प्लानिंग थी कि क्या-क्या करना है। सबसे पहले इस खबर की भनक अमेरिका की एक न्यूज़ वेबसाइट को लगी। उसमें बताया गया कि 1960 में ही मरने के बाद अंतिम संस्कार की प्रक्रिया को तैयार कर लिया गया था, उसके बाद कोरोना पीरियड में इसे अपडेट किया गया। इस ऑपरेशन के लीक होने से बकिंघम पैलेस में हलचल मच गई थी। जिसके अपनी नाराजगी जताई थी और जांच करने के लिए निर्देश भी दिए। 

क्या है ‘ऑपरेशन लंदन ब्रिज’
अब प्लान के बारे में समझते हैं। एलिजाबेथ के निधन के तुरंत बाद 10 मिनट तक प्लेस ऑफ वाइटहॉल के झंडे को झुका दिया जाएगा। इसके बाद प्रिंस दुनिया को संबोधित करेंगे। अंतिम संस्कार का कार्यक्रम पूरे 10 दिन तक चलेगा। महारानी एलिज़ाबेथ को प्रिंस फिलिप के बगल में दफनाया जाएगा। ऑपरेशन लंदन ब्रिज के मुताबिक, जिस दिन महारानी का निधन होगा, उस दिन डी डे के रूप में शोक मनाया जाएगा। निधन की सूचना सबसे पहले सचिव प्रधानमंत्री को देंगे और सबसे पहले प्रधानमंत्री उनके पार्थिव शरीर के पास दर्शन करने के लिए पहुंचेंगे। इसके बाद उन्हें बंदूक और तोपों की सलामी दी जाएगी। वही 3 दिन तक पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि देने के लिए संसद भवन में रखा जाएगा। वही प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद कोई भी बयानबाजी नहीं करेगा। 

प्रिंस चार्ल्स राजा को किया गया घोषित 
जानकारी के मुताबिक, महारानी के निधन के बाद नए नए पीएम बने लिज ट्रस को फोन करके सूचना दी गई। इसके बाद शाही परिवार ने सारी तैयारियों के तहत महारानी के आंखों को बंद किया। इसके बाद प्रिंस चार्ल्स को नया राजा घोषित किया गया। हालांकि, प्रिंस चार्ल्स का औपचारिक राज्याभिषेक बाद में किया जाएगा।  इसी बीच किंग चार्ल्स के नया किंग घोषित होने पर उनके परिवार के सभी सदस्तय उनके हाथों को चूमकर धन्यवाद देंगे। वहीं नियमानुसार महारानी के निधन संबंधी सारी जानकारी पीएम के बाद गवर्नर जनरल, राजदूत को दी जाती है।

निधन के बाद प्रधानमंत्री ने सूचना दी
राजप्रमुख के निधन पर नियमानुसार प्रधानमंत्री को पहला बयान जारी करना होता है। इसी परंपरा के तहत ब्रिटिश पीएम लिज ट्रस ने अपना पहला बयान जारी किया। इसमें उन्होंने महारानी को श्रद्धांजलि दी और कहा कि ‘दिवंगत महारानी अपने पीछे महान विरासत को छोड़कर गई हैं। उन्होंने देश को स्थिरता और ताकत भी दी है। उन्होंने कहा कि महारानी के निधन से ब्रिटेन सदमे में है। वे एक चट्टान की तरह थीं, जिस पर आधुनिक ब्रिटेन का निर्माण हुआ था।‘  पीएम के बाद अन्य सभी मंत्रियों को प्रतीक्षा करने के लिए कहा जाता है।

इसके बाद  शोक संदेश के तहत प्रिंस चार्ल्स के राष्ट्र को टेलीविजन पर संबोधित करने की भी जानकारी मीडिया रिपोर्टस में सामने आई है। इसके बाद वह संसद तक यात्रा करने और स्मारक सेवाओं में भाग लेने के लिए स्कॉटलैंड, उत्तरी आयरलैंड और वेल्स के दौरे का कार्यक्रम पूरा करेंगे। वहीं रक्षा मंत्रालय महारानी के सम्मान में तोपों की सलामी की व्यवस्था करेगा। 

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here