Shinzo Abe Assassination : शिंजो आबे की हत्या के लिए जापान के पीएम ने किसे जिम्मेदार ठहराया, जानें पूरी खबर


Fumio Kishida, PM, Japan- India TV Hindi News
Image Source : AP
Fumio Kishida, PM, Japan

Highlights

  • शिंजो को पर्याप्त पुलिस सुरक्षा नहीं-किशिदा
  • आबे को अंतिम विदाई देने बड़ी संख्या में उमड़े लोग

Shinzo Abe Assassination : जापान (Japan) के प्रधानमंत्री फुमिओ किशिदा (Fumio Kishida) ने पूर्व नेता शिंजो आबे (Shinzo Abe ) की मौत के लिए पर्याप्त पुलिस सुरक्षा नहीं होने को जिम्मेदार ठहराया। जापान के सबसे प्रभावशाली नेताओं में शुमार आबे की शुक्रवार को एक चुनावी सभा के दौरान भाषण देते समय गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। गोलीबारी की तस्वीरों और वीडियो से पता चलता है कि बंदूकधारी चुनावी सभा में आबे के करीब आया हुआ था। 

शिंजो आबे की सुरक्षा में कमियां -किशिदा

किशिदा ने कहा कि नेशनल पब्लिक सेफ्टी कमीशन और नेशनल पुलिस एजेंसी के अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या गलत हुआ और वे आवश्यक कदम उठायेंगे। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि सुरक्षा उपायों में समस्याएं थीं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं उनसे अन्य देशों के उदाहरणों का अध्ययन करते हुए, विस्तृत जांच करने और कमियों को दूर करने आग्रह करता हूं।’ उन्होंने इस साल के अंत में आबे के सम्मान में एक कार्यक्रम आयोजित करने संबंधी योजना की भी घोषणा की। 

हमलावर को घटनास्थल पर ही पकड़ लिया गया

बता दें कि पुलिस ने घटनास्थल पर ही हमलावर तेत्सुया यामागामी (41) को पकड़ लिया था। वह जापान की नौसेना का पूर्व सदस्य है। मीडिया की खबरों में कहा गया है कि उसने जांचकर्ताओं को बताया कि आबे और एक धार्मिक समूह के बीच संबंधों की अफवाह के कारण उसके मन में नफरत पैदा हो गई थी और यही कारण था कि उसने पूर्व प्रधानमंत्री की हत्या कर दी थी।

मंगलवार को किया गया अंतिम संस्कार

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे को मंगलवार को अंतिम विदाई दी गई। एक मंदिर में परिवार के सदस्यों की मौजूदगी में अंतिम संस्कार कर दिया गया। देश के सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहे आबे शुक्रवार को पश्चिमी शहर नारा में चुनाव अभियान के सिलसिले में भाषण दे रहे थे और उसी दौरान उनको गोली मार दी गई थी। उनकी हत्या से पूरी दुनिया स्तब्ध रह गई थी। 

जोजोजी मंदिर के बाहर बड़ी संख्या में उमड़े लोग

दो साल पहले प्रधानमंत्री पद छोड़ने के बाद भी सबसे प्रभावशाली हस्तियों में शामिल आबे को अंतिम विदाई देने के लिए बड़ी संख्या में लोग टोक्यो स्थित जोजोजी मंदिर के बाहर एकत्र हुए। आबे के पार्थिव शरीर को लेकर जब फूलों से सजा वाहन और अन्य वाहनों का काफिला जोजोजी मंदिर की ओर बढ़ा तो शोकाकुल लोगों ने अपने हाथ हिलाए, अपने दिवंगत नेता की तस्वीरें स्मार्टफोन से लीं और कुछ ने “आबे सान!” कहा। अंतिम संस्कार के दौरान आबे की पत्नी अकी आबे, परिवार के अन्य करीबी सदस्य, प्रधानमंत्री फुमिओ किशिदा और पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद थे।

इनपुट-भाषा





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here