UN Mission: कांगो में भारतीय सेना ने संयुक्त राष्ट्र दफ्तर लूटने आये हमलवरों को उलटे पांव दौड़ाया


  • कांगो की सेना और संयुक्त राष्ट्र मिशन को कई बार गंभीर हमलों से भारतीय सेना बचा चुकी है
  • संयुक्त राष्ट्र के बैनर तले भारतीय सेना कांगो को लगातार स्थिर बनाने में लगी हुई है

किंशासा. अफ्रीकी देश कांगो में संयुक्त राष्ट्र के शांति रक्षक मिशन के तहत तैनात भारतीय सेना ने लूट के एक प्रयास को विफल कर दिया है. दरअसल कुछ हथियारबंद लोग एक अस्पताल और संयुक्त राष्ट्र की संपत्ति को लूटना चाह रहे थे.

एक बयान में भारतीय सेना के अधिकारियों ने कहा कि भारतीय सेना के द्वारा संचालित अड्डों और एक बड़े अस्पताल को लूटने के प्रयासों को भारतीय सैनिकों ने विफल कर दिया.

भारतीय सैनिकों ने घटनास्थल पर संयुक्त राष्ट्र कर्मियों और संपत्ति की सुरक्षा सुनिश्चित भी की. ऐसी खबरें हैं कि संयुक्त राष्ट्र के कुछ कार्यालय परिसरों में तोड़फोड़ की गई है जिसपर सेना नजर बनाये हुए है.

आपको बता दें कि भारतीय सेना के जवान संयुक्त राष्ट्र मिशन के तहत MONUSCO (कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र संगठन स्थिरीकरण मिशन) में तैनात है.

2 लाख से अधिक भारतीय सैनिक दें चुके हैं सेवा
1948 से अब तक शांति सेना में 2 लाख से अधिक सैनिक अपनी सेवाएं दें चुके हैं. फ़िलहाल 5,581 भारतीय सैनिक दुनियाभर में संयुक्त राष्ट्र के मिशन के तहत तैनात हैं. संयुक्‍त राष्‍ट्र की ओर से दुनियाभर में चलाए जा रहे 14 मिशनों में से 8 में भारतीय सैनिक तैनात हैं.

ज्ञात होकि 2007 में भारत संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन में एक पूर्ण महिला दल को तैनात करने वाला पहला देश बना था.

भारत संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेता आया है. भारत कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य (MONUSCO) में दूसरा सबसे बड़ा सैन्य (1,888) और पांचवां सबसे बड़ा (139) पुलिस-योगदान देने वाला देश है.

Tags: Indian army



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here