VIDEO: क्यों बन रहे हो पैरासाइट, अपने देश वापस जाओ- पोलैंड में भारतीय पर नस्लीय टिप्पणी


हाइलाइट्स

वारसॉ में एक भारतीय व्यक्ति के साथ नस्लीय दुर्व्यवहार का मामला सामने आया
अमेरिकी नागरिक एक भारतीय को परजीवी, नरसंहारी और आक्रमणकारी कह रहा
घटना पोलैंड की राजधानी वारसॉ के एट्रियम रेडुटा शॉपिंग सेंटर के बाहर की

वारसॉ. पोलैंड की राजधानी वारसॉ में एक भारतीय व्यक्ति के साथ नस्लीय दुर्व्यवहार का मामला सामने आया है. फिलहाल घटना किस तारीख को हुई है इसकी जानकारी नहीं है. लेकिन क्लिप अब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही है. वीडियो में देखा जा सकता है कि एक अमेरिकी भारतीय नागरिक को परजीवी, नरसंहारी और आक्रमणकारी कह रहा है. वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद यूजर्स ने इस पर काफी तीखी प्रतिक्रिया दी है.

सोशल मीडिया पर यूजर्स क्लेम कर रहे हैं कि घटना पोलैंड की राजधानी वारसॉ के एट्रियम रेडुटा शॉपिंग सेंटर के बाहर की है. वीडियो में देखा जा सकता है कि अमेरिकी शख्स भारतीय व्यक्ति से पहले सवाल करता है और पूछता है कि आप पोलैंड में क्यों हैं? इस बात का जवाब भारतीय युवक नहीं देता है. युवक सिर्फ इतना पूछता है कि आप वीडियो क्यों बना रहे हैं? लेकिन अमेरिकी शख्स चुप नहीं होता और कई मिनटों तक नस्लीय टिप्पणी करता रहता है.

वीडियो में अमेरिकी शख्स कहता है कि ‘आप पोलैंड में क्यों हैं? अपने देश क्यों नहीं लौट जाते? मैं अमेरिका से हूं, वहां आप जैसे बहुत लोग हैं. आप पोलैंड को क्यों बर्बाद कर रहे हैं. शख्स आगे कहता है कि आपको क्या लगता है कि आप पोलैंड में घुसपैठ कर सकते हैं, आप आक्रणकारी हैं. आक्रणकारी अपने देश वापस जाओ. आप पोलैंड के नागरिक नहीं हो, यह सिर्फ पोलिश नागरिकों के लिए है. पोलैंड में घुसपैठ करना बंद करो.’

वीडियो के पीछे अमेरिकी शख्स कौन है, यह फिलहाल मालूम नहीं चला है. हालांकि कई नेटिजन्स ने दावा किया है कि कैमरे के पीछे का आदमी कथित गोइम टीवी के संस्थापक जॉन मिनाडेव हैं. कहा जाता है कि यह टीवी अपने यहूदी विरोधी विचारों के लिए जाना जाता है और अक्सर विवादों में फंसा रहता है.

वीडियो में आगे शख्स कहता है कि ‘आपके पास भारत है! आप हमारी मेहनत को छीनने गोरे आदमी की धरती पर क्यों आ रहे हो? आप अपना देश क्यों नहीं बनाते? आप परजीवी क्यों हो रहे हैं? आप हमारी जाति का नरसंहार कर रहे हैं. आप एक आक्रमणकारी हैं, घर जाओ, आक्रमणकारी.’

Tags: Poland, Racial abuse, Racial Comment





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here