कुर्सी जाने के बाद इमरान खान का पहला बयान, जानिए क्या कहा?


Imran Khan, Former Prime Minister of Pakistan - India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO
Imran Khan, Former Prime Minister of Pakistan 

Highlights

  • लोगों को तय करने दें कि वे किसे अपना प्रधान मंत्री बनाना चाहते हैं- इमरान खान
  • इमरान खान ने पाकिस्तान में “तत्काल चुनाव” की मांग की
  • बुधवार को मैं पेशावर में एक जलसा आयोजित करूंगा- इमरान खान

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने प्रधानमंत्री के रूप में शहबाज शरीफ के शपथ लेने के कुछ घंटों बाद ही ‘तत्काल चुनाव’ की मांग की है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के अध्यक्ष इमरान खान (Imran Khan) ने ट्विटर पर कहा कि, ‘लोगों को निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनावों के माध्यम से तय करने दें कि वे किसे अपना प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं, उन्होंने यह भी कहा कि वह 13 अप्रैल (बुधवार) को पेशावर में एक रैली करेंगे।

इमरान खान ने अपने ट्वीट में ये भी कहा, “हम तत्काल चुनाव की मांग कर रहे हैं क्योंकि आगे बढ़ने का यही एकमात्र तरीका है- निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनावों के माध्यम से लोगों को निर्णय लेने दें कि वे किसे अपना प्रधानमंत्री चाहते हैं।”

Imran Khan Tweet

Image Source : TWITTER

Imran Khan Tweet

इमरान खान ने सोमवार को अपने एक अन्य ट्वीट में कहा, “बुधवार (13 अप्रैल) को मैं पेशावर में एक जलसा आयोजित करूंगा, एक विदेशी-प्रेरित शासन परिवर्तन के माध्यम से हटाए जाने के बाद यह मेरा पहला जलसा होगा। मैं चाहता हूं कि हमारे सभी लोग आएं, क्योंकि पाकिस्तान एक स्वतंत्र, संप्रभु राज्य के रूप में बनाया गया था, न कि विदेशी शक्तियों की स्थिति कठपुतली के रूप में।” 

शहबाज शरीफ ने सोमवार को पाकिस्तान के 23वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली, जिससे उनके पूर्ववर्ती इमरान खान के खिलाफ आठ मार्च को लाये गये अविश्वास प्रस्ताव के बाद से देश में बनी अनिश्चितता की स्थिति समाप्त हो गयी। सीनेट के अध्यक्ष सादिक संजरानी ने राष्ट्रपति डॉ. आरिफ अल्वी की अनुपस्थिति में 70 वर्षीय शहबाज को पद की शपथ दिलाई। अल्वी पीएमएल-एन नेता के शपथ लेने से पहले ‘अस्वस्थता’ के कारण छुट्टी पर चले गए।

इससे पहले, पूर्व विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अपनी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के संसद में मतदान में भाग नहीं लेने और वॉकआउट करने की घोषणा की थी, जिसके बाद शहबाज प्रधानमंत्री पद की दौड़ में अकेले उम्मीदवार रह गये थे। स्पीकर अयाज सादिक ने इस सत्र की अध्यक्षता की और नतीजों की घोषणा की जिसके अनुसार, ‘‘शरीफ को 174 वोट मिले और उन्हें पाकिस्तान इस्लामी गणराज्य का प्रधानमंत्री घोषित किया जाता है।’’ इससे पूर्व डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी ने कहा था कि उनकी अंतरात्मा सत्र के संचालन की इजाजत नहीं देती। 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here